सांवरिया री ओलु आवे रे मारे बालपने री सैया रे

सांवरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।



प्राण पडे मारो जीवडो जावे हो ओ,

प्राण पडे मारो जीवडो जावे,
जल बिन मच्छीया यु दुख पावे,
जल बिन मच्छीया यु दुख पावे,
एतो तड़प तड़प मर जावे रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।



रेण दिवस माने नींद नी आवे हो ओ,

रेण दिवस माने नींद नी आवे,
घायल मृग ज्यु वीरह सतावे,
घायल मृग वीरह सतावे,
माने दुनिया तो लागे खारी रे,
मै तो प्यालो प्रेम रो पीनो रे,
माने दुनिया तो लागे खारी रे,
मै तो प्यालो प्रेम रो पीनो रे.
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।



वीरह री अग्नि तन बीच लागी हो ओ,

वीरह री अग्नि तन बीच लागी,
भेद भावना री भरमना भागी,
भेद भावना री भरमना भागी,
मारे चढ गई प्रेम खुमारी रे,
मारी शुद्ध प्रेम सु लीनी रे,
मारे चढ गई प्रेम खुमारी रे,
मारी शुद्ध प्रेम सु लीनी रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।



थे मारा मोहन घर आवो हो ओ,

थे मारा मोहन घर आवो,
बाई सुआ रा सब दुखड़ा मिटावो,
बाई सुआ रा सब दुखड़ा मिटावो,
माने अनहद ओलु आवे रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।



सांवरिया री ओलु आवे रे,

मारे बालपने री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे,
बालपने री सैया रे,
मारे नेनी उमर री सैया रे,
सावरिया री ओलु आवे रे,
मारे बालपने री सैया रे।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें