प्रथम पेज आरती संग्रह

आरती संग्रह

Aarti Sangrah

यमुनाष्टक हिंदी लिरिक्स

यमुनाष्टक हिंदी लिरिक्स, सम्पूर्ण यमुनाष्टक हिंदी लिरिक्स, नमामि यमुनामहं सकल सिद्धि हेतुं मुदा, मुरारि पद पंकज स्फ़ुरदमन्द रेणुत्कटाम। तटस्थ नव कानन प्रकटमोद पुष्पाम्बुना, सुरासुरसुपूजित स्मरपितुः श्रियं बिभ्रतीम।।१।। कलिन्द गिरि मस्तके...

ॐ जय जगदानन्दी माँ नर्मदा आरती लिरिक्स

ॐ जय जगदानन्दी, मैया जय आनंद कन्दी, ब्रह्मा हरिहर शंकर, रेवा शिव हर‍ि शंकर, रुद्रौ पालन्ती, ॐ जय जगदानंदी।। देवी नारद सारद तुम वरदायक, अभिनव पदचंडी, सुर नर मुनि जन सेवत, शारद पद्वंती, ॐ...

जय गणेश पाहिमाम श्री गणेश रक्षा स्त्रोतम लिरिक्स

जय गणेश पाहिमाम, जय गणेश जय गणेश जय गणेश पाहिमाम, जय गणेश जय गणेश जय गणेश रक्षमाम।। मुदाकरात्तमोदकं सदा विमुक्तिसाधकं, कलाधरावतंसकं विलासिलोकरक्षकम्। अनायकैकनायकं विनाशितेभदैत्यकं, नताशुभाशुनाशकं नमामि तं विनायकम्।।१।। नतेतरातिभीकरं नवोदितार्कभास्वरं, नमत्सुरारिनिर्जरं नताधिकापदुद्धरम्। सुरेश्वरं...

शिव चालीसा हिंदी लिरिक्स

शिव चालीसा हिंदी लिरिक्स, - दोहा - जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान।। - चौपाई - जय गिरिजा पति दीन दयाला। सदा करत सन्तन प्रतिपाला।। भाल...

श्री हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स

श्री हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स, - दोहा - श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।। बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार, बल बुद्धि...

श्री शनि चालीसा हिंदी लिरिक्स

श्री शनि चालीसा हिंदी लिरिक्स, - दोहा - जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल, दीनन के दुख दूर करि, कीजै नाथ निहाल।। जय जय श्री शनिदेव प्रभु, सुनहु विनय महाराज, करहु...

आरती श्री साईं गुरुवर की परमानंद सदा सुरवर की लिरिक्स

आरती श्री साईं गुरुवर की, परमानंद सदा सुरवर की।। जाकी कृपा विपुल सुखकारी, दु:ख शोक संकट भयहारी, शिरडी में अवतार रचाया, चमत्कार से जग हर्षाया, आरती श्रीं साईं गुरुवर की, परमानंद...

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की आरती लिरिक्स

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की, मैं तो आरती उतारूँ रे, संतोषी माता की, जय जय संतोषी माता, जय जय माँ, जय जय संतोषी माता, जय जय माँ।। बड़ी...

सुन मेरी देवी पर्वत वासिनी तेरा मैंने पार ना पाया आरती...

सुन मेरी देवी पर्वत वासिनी, तेरा मैंने पार ना पाया, सुन मेरी देवी पर्वतवासनी, तेरा मैंने पार ना पाया।। पान सुपारी ध्वजा नारियल, ले अम्बे तेरी भेंट चढ़ाया, सुन मेरी...

आरती गिरिजा नंदन की गजानन असुर निकंदन की लिरिक्स

आरती गिरिजा नंदन की, गजानन असुर निकंदन की।। तर्ज - आरती कुञ्ज बिहारी की। मुकुट मस्तक पर है न्यारा, हाथ में अंकुश है प्यारा, गले में मोतियन की माला, उमा...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।