प्रथम पेज आरती संग्रह

आरती संग्रह

Aarti Sangrah

शिव पंचाक्षर स्तोत्र नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय लिरिक्स

0
शिव पंचाक्षर स्तोत्र, नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय, भस्माङ्गरागाय महेश्वराय, नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय, तस्मै नकाराय नम: शिवाय।। मन्दाकिनीसलिलचन्दनचर्चिताय, नन्दीश्वरप्रमथनाथमहेश्वराय, मन्दारपुष्पबहुपुष्पसुपूजिताय, तस्मै मकाराय नम: शिवाय।। शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्द, सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय, श्रीनीलकण्ठाय वृषध्वजाय, तस्मै शिकाराय नम: शिवाय।। वसिष्ठकुम्भोद्भवगौतमार्य, मुनीन्द्रदेवार्चितशेखराय, चन्द्रार्कवैश्वानरलोचनाय, तस्मै वकाराय नम: शिवाय।। यक्षस्वरूपाय जटाधराय, पिनाकहस्ताय सनातनाय, दिव्याय...

जय डमरूधर नयन विशाला काल भैरव चालीसा लिरिक्स

0
जय डमरूधर नयन विशाला, दोहा - श्री भैरव संकट हरन, मंगल करन कृपालु, करहु दया निज दास पे, निशि दिन दीनदयालु।। जय डमरूधर नयन विशाला, श्याम वर्ण वपु महा कराला।। जय...

मात श्री राणीसती जी मेरी कष्ट कर दूर भक्त के री...

0
मात श्री राणीसती जी मेरी, कष्ट कर दूर भक्त के री।। पाय मैं पडूँ मात थारे, क्षमा कर चूक भयी म्हारे, अनेको विघन आप टारे, काज निज भक्तन के...

श्री श्याम चालीसा हिंदी लिरिक्स खाटूश्याम चालीसा

0
श्री श्याम चालीसा, दोहा - श्री गुरु चरण ध्यान धर, सुमीर सच्चिदानंद, श्याम चालीसा बणत है, रच चौपाई छंद। श्याम श्याम भजि बारंबारा, सहज ही हो भवसागर पारा। इन सम देव...

ॐ जय श्री ओम बन्ना आरती लिरिक्स

0
ॐ जय श्री ओम बन्ना, ॐ जय श्री ओंम बन्ना, आरती री वेला पधारो, आरती री वेला पधारो, भक्त उडिके बाटा, ॐ जय श्री ओंम बन्ना।। पातावत राठौडी कुल में, आप...

अधरधर मुरली बजैया की आरती कृष्ण कन्हैया की लिरिक्स

0
अधरधर मुरली बजैया की, आरती कृष्ण कन्हैया की।। कृष्ण तुम मथुरा जन्म लियो, नन्द घर मंगलाचार कियो, यशोदा गोद खिलैया की, आरती कृष्ण कन्हैया की।। कृष्ण तुम यशोदा के छैया, श्याम...

आरती लेकर खड़ा हुआ दरबार तेरे भोले बाबा

0
आरती लेकर खड़ा हुआ, दरबार तेरे भोले बाबा, मुझ गरीब की आरती, स्वीकारो भोले बाबा।। धन होता तो धन लेकर, दरबार आपके आता, स्वर होता तो प्रेम सहित, गुणगान आपके गाता, सेवा...

आरती मंगलकारी की पवनसुत अति बलधारी की लिरिक्स

0
आरती मंगलकारी की, पवनसुत अति बलधारी की।। तर्ज - आरती कुञ्ज बिहारी की। गले में तुलसी की माला, बजावें मृदंग करताला, ह्रदय में दशरथ के लाला, भाल पे तिलक, अनोखी झलक, कथा...

ॐ जय गुरुदेव हरे गुरू टेकचंद जी आरती

0
ॐ जय गुरुदेव हरे, ॐ जय गुरुदेव हरें, दीनजनों के संकट, तुम गुरु दूर करें।। पुण्य पयोनिधि पावन, आलरी की धरती, हर्ष विभोर धरा ने, गोदी निज भर दी।। लता पुष्प लहराये, सरस...

आरती कीजे श्याम सुन्दर की आरती लिरिक्स

1
आरती कीजे श्याम सुन्दर की, मदनमोहन श्री राधा बर की, आरती कीजे श्याम सुंदर की।। कनक सिंहासन राजत जोरि, विनती करत सुरजन कर जोरि, प्रनतपाल श्री गिरिवरधर की, प्रनतपाल श्री...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।