प्रथम पेज राजस्थानी भजन

राजस्थानी भजन

Rajasthani Bhajan

चरखा को भेद बता दे कातन वाली नार भजन लिरिक्स

चरखा को भेद बता दे, कातन वाली नार।।वन जायो वन उपनियो रे, वन मै तेरो वास, एक अचंबो मै सुणियो, बेटी जायो बाप जी, चरखा को भेद बता दे, कातन...

अरे सतगुरु हाथ धरीया सिर ऊपर सही सही नाम सुनाया जी

अरे सतगुरु हाथ धरीया सिर ऊपर, सही सही नाम सुनाया जी, अमर जडी रा पिया प्याला, दोई-दोई तार मिलाया जी, अरे लिया फेक मरदाना अवधु, मन मेरे मस्ताना ए...

अरे कवेला मेहला में किकर आविया ओ राजा

अरे कवेला मेहला में, किकर आविया ओ राजा, ए कहे शहर वालो लोग हे हा।।अरे किन रे साधू वचन, मांगीया ओ राजा, दिनी वचनो रे वाली, मार हे हा, अरे...

कोई सुणलो नी समाज वाला लोग नशा मुक्ति पर भजन

कोई सुणलो नी समाज वाला लोग, नशे में घणो रोग, काया में कतरी विपदा पडे।। तर्ज - पन्ना काळी वा अंधयारी।काम धंधो करे कोनी, सिधो ठेके जाय रयो...

पूरी रे पुनम री रे रात देवल भजन लिरिक्स

पूरी रे पुनम री रे रात देवल, पुरी रे पुनम री रे रात, पाबुजी आया देवल रे पावणा रे हा।।ढालीया हींगलोया रे ठाठ देवल, रेशम री रे...

गुरु सरीखा देव म्हारे मन भावे भजन लिरिक्स

गुरु सरीखा देव, म्हारे मन भावे, सदा मन भावे।।इला पिगला ओर सुखमणा ने ध्यावे, सुखमणा ध्यावे, त्रिवेणी रे बीच जीव ठहरावे, गुरु सरीखा देंव, म्हारे मन भावे, सदा मन भावे।।ऐड़े संतों...

हरी तेरा अजब निराला काम भजन लिरिक्स

हरी तेरा अजब निराला काम, दोहा - आरी री भवानी वास कर, तो मेरे घट के पट दे खोल, रसना पे बासा करो, तो मैया सूद सब्द मुख...

आई माता ए मारी जोगमाया थारे लुल लुल लागू पाव

आई माता ए मारी जोगमाया, आई माता ऐ मारी जोगमाया, थारे लुल लुल लागू पाव, मारी जोगमाया।।बिलाडे बनीयो ए माता देवरो, घणो सुवानो थारो सेवरो, थारी ध्वजा फरूके असमान, मारी...