वारी रे रुणीजा रा राजा तारो पोकरणया में स्थान

वारी रे रुणीजा रा राजा, तारो पोकरणया में स्थान, बाजरिया बाजा, थारा घोडा ने घुमा दे रे, मारा पीछम दिशा रा, बादशाह रे।।थारी माता मीणा दे जन्मा, बांजणी रे, जीके कोई...

सुरता होजा नी भजन वाली लार मारवाड़ी भजन लिरिक्स

सुरता होजा नी भजन वाली लार, दिखाऊँ थाने राम नगरी, राम नगरी रे थाने प्रेम नगरी, सुरता होजा नी भजन री लार, दिखाऊँ थाने राम नगरी।।सुरता मत कर...

औरा के आंगण काई खेलो म्हारा जिन्द बाबा भजन लिरिक्स

औरा के आंगण काई खेलो, म्हारा जिन्द बाबा, म्हारा आंगणिया में खेलो जी।।दादा जी मनावे थांका, बाबाजी जी मनावे, बनडी बुलावे बेगा बेगा आओ जी, औरां के आंगण काई...

पन्ना कालीवा अंधियारी माँझल रात पन्नाधाय की मार्मिक कविता

पन्ना कालीवा अंधियारी माँझल रात, अंधियारी आधी रात, नन्हा सो ऊंधियो साथ, चितोड दुर्ग सु एकली चली, कुम्भलगढ़ सु चाल पड़ी।।अरे मेवाड़ धरा रे उनवेल्या पर, राज करे बनवीर...

कानूड़ो नी जाणे म्हारी प्रीत भजन लिरिक्स

कानूड़ो नी जाणे म्हारी प्रीत, मैं तो बाल कंवारी रे, मैं तो एकल कंवारी रे, साँवरियो नी जाणे म्हारी प्रीत।।जल जमुना में मैं तो, पाणी ने गई थी...

म्हारा सांवरिया गोकुल की गुजरिया लड़वा लागि रे लिरिक्स

म्हारा सांवरिया गोकुल की, गुजरिया लड़वा लागि रे, गोकुल की गुजरिया, लड़वा लागि रे, मारा सांवरिया गोकुल की, गुजरिया लड़वा लागि रे।।गुजरिया की मटक्या फोड़े, घर में घुस छिको तोड़े, चोरी...

मन मारा थारे कई विधि समझाऊं कबीर भजन लिरिक्स

मन मारा थारे कई विधि समझाऊं, मनवा थारा मते चलूँ तो, सीधा नरक लई जावे, मन म्हारा थारे कई विधि समझाऊं।।अरे सोना होय तो सुहाग मंगाऊं, बंद नाल...