प्रथम पेज सत्संग भजन लिरिक्स

सत्संग भजन लिरिक्स

Satsang Bhajan Lyrics

सत्संग में सब आया करो यो जीवन सफल बनाया करो

सत्संग में सब आया करो यो जीवन सफल बनाया करो

सत्संग में सब आया करो,यो जीवन सफल बनाया करो।।आओ र भक्तो कर्म कमालो,आओ र भक्तो कर्म कमालो,ईश्वर के गुण गाया करो,जीवन सफल बनाया करो।।निर्त्य सूरत के दो पहल बनालो,निर्त्य सूरत के दो पहल बनालो,मन...
मोको लाग्यो रे सतसंगी थारो भाग जाग्यो रे

मोको लाग्यो रे सतसंगी थारो भाग जाग्यो रे

मोको लाग्यो रे सतसंगी,थारो भाग जाग्यो रे,मौको लाग्यों रे।।गली गली हरी चर्चा होवे,जाणो सतगुरु आयो रे,भारत भूमि अमरत बरसे,बहुत ही आनन्द छायो रे,मोको लाग्यों रे सतसंगी,थारो भाग जाग्यो रे,मौको लाग्यों रे।।देश देश का हरी...
मन तू सतसंग करले भाई देसी चेतावनी भजन लिरिक्स

मन तू सतसंग करले भाई देसी चेतावनी भजन लिरिक्स

मन तू सतसंग करले भाई,दोहा - एक घड़ी आधी घड़ी,आधी मे पुनिआध,तुलसी सतसंग साध कि,भाई कटे कोटि अपराध।मन तू सतसंग करले भाई,सतसंग बीना सुख नही पावै,चाहै फिरो जग माई।।सतसंग पारस है जग माई,कंचन करै...
साधो भाई सत्संग उत्तम गंगा देसी भजन लिरिक्स

साधो भाई सत्संग उत्तम गंगा देसी भजन लिरिक्स

साधो भाई सत्संग उत्तम गंगा,पाप ताप संताप मिटावे,झण्डा लहरावे तिरंगा।।सत्संग तो संता की कोर्ट,चले ज्ञान प्रसंगा,सतगुरु दाता वकील बन आवे,मिट जावे सब दंगा।।लख चौरासी की काटे फांसी,फैसला देवे सही सलंगा,शिष्य होवे उत्तम अधिकारी,रेवे सतगुरु...
हरी नाम का कर सुमिरण शक्ति मिल जाएगी भजन लिरिक्स

हरी नाम का कर सुमिरण शक्ति मिल जाएगी भजन लिरिक्स

हरी नाम का कर सुमिरण,शक्ति मिल जाएगी,मोह माया के बंधन से,मुक्ति मिल जाएगी,हरी नाम का कर सुमिरन,शक्ति मिल जाएगी।।तर्ज - एक प्यार का नगमा।तू व्यर्थ में उलझा है,माया की झाड़ी में,सब छोड़ के आजा...
सत्संग बड़ी संसार में कोई बड़भागी नर पाया भजन लिरिक्स

सत्संग बड़ी संसार में कोई बड़भागी नर पाया भजन लिरिक्स

सत्संग बड़ी संसार में,कोई बड़भागी नर पाया।।संगत सुधरे वाल्मीकि,जग की परित् लगी फीकी,रामायण दी रच निकी,साठ सहस्र विस्तार मे,फिर निर्भय होकर गुण गाया।।पूर्व जन्म नारद रिसी राई,दासी पुत्र सेवा ठाई,सत्संग से विद्या पाई,लगाया ब्रह्मा...
सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी भजन लिरिक्स

सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी भजन लिरिक्स

सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी,दोहा - संत हमारी आत्मा,ने मै संतन की देह,रोम रोम में रमरया,प्रभु ज्यु बादल मे मेष।सतरी संगत म्हाने दीजो रे गुरूजी,साध संगत म्हाने दीजो जी,बार बार म्हारी आ है...
सैया आज पूनम की है रात गई रे सतसंगत में लिरिक्स

सैया आज पूनम की है रात गई रे सतसंगत में लिरिक्स

सैया आज पूनम की है रात,गई रे सतसंगत में,सईयाँ आज पूनम की है रात,गई रे सतसंगत में,मारा सिमरत पकडी बाय,भिगोई घेरा रंग में,सुरता आज पूनम की है रात,गई रे सतसंगत मे।।सुरता दिसे रूप स्वरूप,कवारी...
सत्संग वह गंगा है जिसमे जो नहाते है भजन लिरिक्स

सत्संग वह गंगा है जिसमे जो नहाते है भजन लिरिक्स

सत्संग वह गंगा है,जिसमे जो नहाते है,सत्संग वो गंगा है,जिसमे जो नहाते है,पापी से पापी भी,पावन हो जाते है,पापी से पापी भी,पावन हो जाते है,सत्संग वो गंगा है,जिसमे जो नहाते है,पापी से पापी भी,पावन...
सत्संग करणी रे सत्संग री महिमा वेदा वरणी रे

सत्संग करणी रे सत्संग री महिमा वेदा वरणी रे

सत्संग करणी रे,सत्संग री महिमा,वेदा वरणी रे,सत्संग करनी रे।।सत्संग किनी मीराबाई,भोजा जी ने परणी रे,गुरु मिलिया रविदास जी,कृष्ण वरणी रे।हां रे सत्संग करनी रे,सत्संग री महिमा,वेदा वरणी रे,सत्संग करनी रे।।सत्संग किनी राजा भरतरी,छोङी पिंगला...
error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे