प्रथम पेज विविध भजन

विविध भजन

Miscellaneous Bhajan

संदेसा आ गया यम का चलन की कर तैयारी है भजन...

संदेसा आ गया यम का, चलन की कर तैयारी है।। बाल सिर के हुए धोले, सफेदी आँख पर छाई, कान से हो गया बेहरा, दाँत हिलना भी जारी है, संदेसा...

खबर नहीं है पल की रे मनवा बात करे कल की...

खबर नहीं है पल की, दोहा - मरना मरना सब कोई कहे, मरना ना जाने कोई, एक बार ऐसे मरो, फिर से मरना ना होय। लाख कमाले हीरे मोती, तृष्णा...

मुझे माँ से गिला मिला ये ही सिला बेटियां क्यों पराई...

मुझे माँ से गिला, मिला ये ही सिला, बेटियां क्यों पराई हैं, मुझे मां से गिला।। खेली कूदी मैं जिस आँगन में, वो भी अपना पराया सा लागे, ऐसा दस्तूर...

चली जा रही है उमर धीरे धीरे भजन लिरिक्स

चली जा रही है उमर धीरे धीरे, पल पल यूँ आठों पहर धीरे धीरे, चली जा रही हैं उमर धीरे धीरे, जो करते रहोगे भजन धीरे धीरे, मिल...

उठ जाग ऐ रूह मेरी तुझे तेरे पियूँ ने जगाया है...

उठ जाग ऐ रूह मेरी, तुझे तेरे पियूँ ने जगाया है।। बहुत गमाए दिनड़े तूने, गल गल के गफलत में, वक्त गुजारा सारा अपना, तूने इस नफरत में, कब जागेगी...

कोई पीवे संत सुजान नाम रस मीठा रे भजन लिरिक्स

कोई पीवे संत सुजान, नाम रस मीठा रे।। राजवंश की रानी पी गयी, एक बूँद इस रस का, आधी रात महल तज चलदी, रहा ना मनवा बस का, गिरिधर की...

अंग अंग में गौ माता के सब देवों का धाम है...

अंग अंग में गौ माता के, सब देवों का धाम है, गौ माता के श्री चरणों में, बारम्बार प्रणाम है।। तर्ज - भला किसी का कर ना सको। नेत्रों...

तुम दिखते नहीं हो फिर भी हरि एहसास तुम्हारा होता है

तुम दिखते नहीं हो फिर भी हरि, एहसास तुम्हारा होता है, अहसास को कायम रखने से, विश्वास तुम्हारा होता है।। तर्ज - दिल लुटने वाले। संतो से सुना ग्रंथों...

छठ पर्व पे अरग जो भक्त चढ़ा दे भाग्य जग जाएगा...

छठ पर्व पे अरग जो भक्त चढ़ा दे, भाग्य जग जाएगा, कोई भाव से छठी मैया को मनाले, भाग्य जग जाएगा, भाग्य जग जाएगा।। तर्ज - इस प्यार से...

ऊपर वाला बैठा सब देख रहा भजन लिरिक्स

ऊपर वाला बैठा सब देख रहा, एक मन कहता करले करले, दूजा कहता नहीं नहीं, मन मर्जी चलना प्यारे ये, निर्णय भी तो ठीक नहीं, लालच में क्यों आत्मा...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।