थाने सिमरा गजानंद आज आवो बाबा कीर्तन में लिरिक्स

थाने सिमरा गजानंद आज,
आवो बाबा कीर्तन में।।



हरी हरी पिली देवा आंगणो निपावां,

केसर कंकु चन्दन चौकावां ,
थाने बिठावां सिंहासन आज,
आवो बाबा कीर्तन में।।



माट्टी केरो कलशियो कराओ थरपना,

दीपक ज्योती स्वीकारा करना,
प्रभु ज्योतां ज्योत रमाय,
आवो बाबा कीर्तन में।।



मोदक मेवा और मिठाइयां,

अगरबत्ती इत्र फुलडा़ सजाया,
प्रभु मान करो लड्डु वन थाल,
आवो बाबा कीर्तन में।।



विघ्न विनाशक ‘रतन’ मनावे,

चरण कमल में ध्यान लगावे,
जामी मुषक हो असवार,
आवो बाबा कीर्तन में।।



थाने सिमरा गजानंद आज,

आवो बाबा कीर्तन में।।

गायक / लेखक – पंडित रतन लाल प्रजापति।
सहयोगी – श्री प्रजापति मण्डल चौगांवडी़।
मोबाइल – 7627022556


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम जग में साचो थारो नाम

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम जग में साचो थारो नाम

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम, जग में साचो थारो नाम, पगल्या पुजवाया थारा मारवाड़ में।। धरती राजस्थान में वो, रुणिचो इक गांव, दूर देश रा आवे जातरी, लेवे थारो नाम,…

अघोरी बाबा कद म्हारी अर्जी सुणोला लिरिक्स

अघोरी बाबा कद म्हारी अर्जी सुणोला लिरिक्स

अघोरी बाबा कद म्हारी, अर्जी सुणोला।। जबसे सुनी महिमा थारे नाम की, मनडा़ में लगन लगा ली रे, दर्शन में पैदल पैदल आगी रे, अघोरीं बाबा कद म्हारी, अर्जी सुणोला।।…

अम्बापुर अवतारी माता बिलाड़े बिराजे ओ

अम्बापुर अवतारी माता बिलाड़े बिराजे ओ

अम्बापुर अवतारी माता, बिलाड़े बिराजे ओ, अरे साचे मनसु ध्यावे, जिनरा कारज सारे ओ, हालो बिलाड़े, हा रे हालो डायलाणा, आईमाता सबरा, कष्ट निवारे ओ, हालो बिलाड़े।। नारलाई मे आईमाता,…

जपले माला सांझ सवेरे एक माला हरि नाम की भजन लिरिक्स

जपले माला सांझ सवेरे एक माला हरि नाम की भजन लिरिक्स

जपले माला सांझ सवेरे, एक माला हरि नाम की, जिस माला में हरि का भजन नहीं, वह माला किस काम की।। राम के बल से हनुमान ने, सागर शीला तिराई…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे