कानुड़ा का दिल लुट ले गई गुजरी भजन लिरिक्स

कानुड़ा का दिल,
लुट ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल,
लुट ले गई गुजरी,
ले गई गुजरी आ ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल,
लुट ले गई गुजरी।।



नैन रसीला ज्यारा होंठ रसीला,

अरे नैन रसीला ज्यारा होंठ रसीला,
नैना बीच दिल ले गई गुजरी,
नैना बीच दिल ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल लुट ले गई गुजरी।।



गोरा गोरा हाथा माय हरी हरी चुडीया,

गोरा गोरा हाथा माय हरी हरी चुडीया,
चुडी खनकती दिल ले गई गुजरी,
चुडी खनकती दिल ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल लुट ले गई गुजरी।।



झीणा झीणा घुंघट काडे,

झीणा झीणा घुंघट काडे,
घुंघट बीच दिल ले गई गुजरी,
घुंघट बीच दिल ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल लुट ले गई गुजरी।।



दहिडो बेचवा चाली गुजरी,

दहिडो बेचवा चाली गुजरी,
पायल छमका दिल ले गई गुजरी,
पायल छमका दिल ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल लुट ले गई गुजरी।।



मीठा मीठा बोल सुना गई गुजरी,

मीठा मीठा बोल सुना गई गुजरी,
मनडो हरके ले गई गुजरी,
मनडो हरके ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल लुट ले गई गुजरी।।



कानुड़ा का दिल,

लुट ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल,
लुट ले गई गुजरी,
ले गई गुजरी आ ले गई गुजरी,
कानुडा का दिल,
लुट ले गई गुजरी।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें