संतो में एक संत हुए है काशीपुर महाराज भजन लिरिक्स

संतो में एक संत हुए है,
काशीपुर महाराज,
जिनकी गूलर बडी है धाम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।

तर्ज – देख तेरे संसार की हालत।



मींगसर सुधी दशमी का जाया,

जांगीङ कूल मे जन्म थे पाया,
पिथाराम जी के घर आया,
मात पिता मन मे हर्षाया,
ढिंगसरी मे जन्म हुआ है,
चन्द्राराम जी नाम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।



केर के नीचे आशण जमाया,

बारह वर्ष तक मौन लगाया,
शिव शंकर की भक्ति पाया,
आशीष लेकर कुटिया बनाया,
गूलर गंगा प्रकटभयी जब,
खुशीहुए घनशयाम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।



जीव जन्तु को ह्रदय लगाया,

वन जंगल स्वर्ग बनाया,
राम नाम का जाप बढाया,
महादेव के मन यह भाया,
श्री बापजी भजन करता,
रटते सीताराम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।



शेष महेश गणेश बैठाया,

लक्ष्मी का बेङा पार ना पाया,
रामपूरी को शिष्य बनाया,
सेवा करना धर्म बताया,
भादवा सूदी बारस का मेला,
संतसीधारे धाम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।



एक भक्त मन शंका लाया,

सिंह रुप उनको दर्शाया,
जगदीश तेरा ध्यान लगाया,
गुरु चरणों मे शिष्य नवाया,
नगर बोङवा अर्ज करत है,
मंगल कर जयो काम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।



संतो में एक संत हुए है,

काशीपुर महाराज,
जिनकी गूलर बडी है धाम,
जिनकी गूलर बडी है धाम।।

Upload By – Rameshwar jangid
8956973121


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

थारे खातिर जीव होम दु रण भारत माहि लक्ष्मण बैठो होजा भाई

थारे खातिर जीव होम दु रण भारत माहि लक्ष्मण बैठो होजा भाई

थारे खातिर जीव होम दु, रण भारत माहि, लक्ष्मण बैठो होजा भाई।। लक्ष्मण बाण लागो रणभारत रे माही, राम चंद्र रोबा लागा, आखया खोले नाही, लक्ष्मण बैठो होजा भाई।। गड…

शिवजी री महिमा गाउँ मैं तो सरनेश्वर ने मनावु

शिवजी री महिमा गाउँ मैं तो सरनेश्वर ने मनावु

शिवजी री महिमा गाउँ, मैं तो सरनेश्वर ने मनावु, शिवजी री महिमा गावु, मै तो सरनेश्वर ने मनावु।। सिरोही में महिमा भारी, ज्याने ध्यावे नर ने नारी, अरे सिरोही मे…

म्हारा सतगुरु दीनदयाल शब्द वाली नाव बनाई रे लिरिक्स

म्हारा सतगुरु दीनदयाल शब्द वाली नाव बनाई रे लिरिक्स

म्हारा सतगुरु दीनदयाल, शब्द वाली नाव बनाई रे।। नाव में बैठा मीराबाई, हार बन आयो रे, गले को हार बनाए रे, म्हारा सतगुरु दिनदयाल, शब्द वाली नाव बनाई रे।। नाव…

लख चौरासी रा छोटा टेशन मोटा मिनक जमारा है लिरिक्स

लख चौरासी रा छोटा टेशन मोटा मिनक जमारा है लिरिक्स

लख चौरासी रा छोटा टेशन, दोहा – राम नाम मे आलसी, भोजन मे हुशियार, तुलसी ऐसे जीव को, बार बार धिक्कार। लख चौरासी रा छोटा टेशन, मोटा मिनक जमारा है,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे