धन्य कबीर कुछ जलवा दिखाना हो तो ऐसा हो भजन लिरिक्स

धन्य कबीर कुछ जलवा,
दिखाना हो तो ऐसा हो,
बिना माँ बाप के दुनिया में,
आना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



उतर कर आसमान से,

नूर का गोला कमलदल पर,
वो आके बन गया बालक,
बहाना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



छुड़ा कर ढोंग दुनिया के,

वो सत्य उपदेश देते थे,
सारे मैदान पर डंका,
बजाना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



बहस करने को पंडित मौलवी,

सब पास में आए,
भए सरमिन्दे आपी खुद,
हराना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



सुनाके ज्ञान निरवानी,

किया दोउ दीन को चेला,
गर संसार में सद्गुरू,
कहाना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



छोड़ के फूल और तुलसी,

चले सादेह निज घर को,
परम अवतार इस जग से,
रवाना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।



धन्य कबीर कुछ जलवा,

दिखाना हो तो ऐसा हो,
बिना माँ बाप के दुनिया में,
आना हो तो ऐसा हो,
धन्य कबीर कुछ जलवां,
दिखाना हो तो ऐसा हो।।

प्रेषक – नंदलाल
9977128072


https://youtu.be/3HE9NivaeVg

इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

हरी थारा नाम हजार कैसे लिखू कंकु पत्री भजन लिरिक्स

हरी थारा नाम हजार कैसे लिखू कंकु पत्री भजन लिरिक्स

हरी थारा नाम हजार, सांवरिया रा नाम हजार, बनवारी थारा नाम हजार, मैं कैसे लिखू कंकु पत्री।। कोई केवे यशोदा रो, कोई केवे देवकी रो, कोई केवे नंदजी रो लाल…

कृपासिंधु मुझे अपना बना लोगे तो क्या होगा कबीर भजन

कृपासिंधु मुझे अपना बना लोगे तो क्या होगा कबीर भजन

कृपासिंधु मुझे अपना, बना लोगे तो क्या होगा, जरा सतनाम कानो में, सुना दोगे तो क्या होगा, कृपासिन्धु मुझे अपना, बना लोगे तो क्या होगा।। तर्ज – मुझे तेरी मोहब्बत…

क्या वह स्वभाव पहला सरकार अब नहीं है भजन लिरिक्स

क्या वह स्वभाव पहला सरकार अब नहीं है भजन लिरिक्स

क्या वह स्वभाव पहला, सरकार अब नहीं है, दीनों के वास्ते क्या, दरबार अब नहीं है।। या तो दयालु मेरी, दृढ़ दीनता नहीं है, या दीन कि तुम्हें ही, दरकार…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे