ये धन दौलत दुनिया की रौनक सब कुछ यहीं रह जाएगा लिरिक्स

ये धन दौलत दुनिया की रौनक,
सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा,
महल दो महले कोई बनाए,
साथ कोई कुछ ना ले जाए,
फिर ये मनवा क्यों ललचाए,
ये शान शौकत,
ये धन दौलत दुनियाँ की रौनक,
सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा।।
ye dhan daulat duniya ki raunak lyrics
ये भी देखे – जिंदगी में हजारों का मेला जुड़ा।



ललचाए ये जग सारा,

माया के फेरे में,
हर कोई खो गया,
लोभों में खो गया है,
लालच के घेरे में,
लोभ मोह से क्या होना है,
चैन सदा मन का खोना है,
कुछ तो सोचो ना,
धन चंचल है माया ठगनी,
एक जगह ये कभी ना रहनी,
ये तो आती जाती रहनी,
ये धन दौलत दुनियाँ की रौनक,
सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा।।



धन से सुख मिल जाए,

ना मन का चैन मिले,
मन में संतोष हो तो,
मन को भी चैन आए,
जीवन ये सुख से कटे,
माया तो मन का है बंधन,
मन के चैन के ना ये साधन,
कुछ तो सोचो ना,
अगर सदा सुख से रहना,
माया के बंधन से बचना,
नेक राह जीवन में चलना,
Bhajan Diary Lyrics,
ये धन दौलत दुनियाँ की रौनक,
सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा।।



ये धन दौलत दुनिया की रौनक,

सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा,
महल दो महले कोई बनाए,
साथ कोई कुछ ना ले जाए,
फिर ये मनवा क्यों ललचाए,
ये शान शौकत,
ये धन दौलत दुनियाँ की रौनक,
सब कुछ यहीं रह जाएगा,
संग में ना कुछ भी जाएगा।।

Singer – Shiv Kumar Pathak


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें