सूरज चंदा तारे उसके श्री राम भजन लिरिक्स

सूरज चंदा तारे उसके,
धरती आसमान,
दिन भी उसका रात भी उसकी,
उसकी सुबह और शाम,
राम की राम ही जाने राम।।



संत जनो की रक्षा हेतु,

धनुष राम ने धारा,
दुष्टों का संहार किया,
भक्तों को पार उतारा,
पहले था ना आगे होगा,
जैसे राजा राम,
दिन भी उसका रात भी उसकी,
उसकी सुबह और शाम,
राम की राम ही जाने राम।।



आदर और सत्कार बड़ों का,

मात पिता की पूजा,
प्राण जाए पर वचन ना जाए,
नहीं उदाहरण दूजा,
नहीं भाई कोई लक्ष्मण जैसा,
यति सदी बलवान,
दिन भी उसका रात भी उसकी,
उसकी सुबह और शाम,
राम की राम ही जाने राम।।



मर्यादा पुरुषोत्तम की है,

लीला अजब न्यारी,
चरणों ठोकर से प्रभु की,
शिला हो गयी नारी,
राम कथा से ही मिल जाये,
सबको मुक्ति धाम,
दिन भी उसका रात भी उसकी,
उसकी सुबह और शाम,
राम की राम ही जाने राम।।



सूरज चंदा तारे उसके,

धरती आसमान,
दिन भी उसका रात भी उसकी,
उसकी सुबह और शाम,
राम की राम ही जाने राम।।

Singer – Tejaswini Sharma


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

वनवास मेरे प्राण का प्यारा चला गया भजन लिरिक्स

वनवास मेरे प्राण का प्यारा चला गया भजन लिरिक्स

वनवास मेरे प्राण का, प्यारा चला गया, मेरी ज़िन्दगी का राम, सहारा चला गया।। तर्ज – मिलती है जिंदगी में। कैकई ने ज़ुल्म ढाया है, वचनों को मांग कर, चौदह…

अपना जीवन सफल बनाये सब मिल राम नाम गुण गाय

अपना जीवन सफल बनाये सब मिल राम नाम गुण गाय

अपना जीवन सफल बनाये, सब मिल राम नाम गुण गाय, राम रामाय नमः राम रामाय नमः।। तर्ज – तेरा पल पल बीता जाये। अहिल्या थी श्राप की मारी, राम चरण…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे