गाओ रे झूमो रे नाचो रे गाओ आईं है मैया अंगनवा हमारे

गाओ रे झूमो रे नाचो रे गाओ,
आईं है मैया अंगनवा हमारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।



सिंघ पे बैठी आई भवानी,

करने हमारे अंगनवा मेहमानी,
दर्शन से नैया लगेगी किनारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।



हाथो में मेहदी लगे है सुहानी,

हीरा जड़ी मुंदरी पहने भवानी,
नाना रतन मैया ने अंग धारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।



कानो में बाला गले फूल माला,

कम्मर में डोरा है पहने भवानी,
लाल लाल चुनरी में मीना सितारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।



घर घर के अंगना डले माँ के पलना,

चंदन के पलना में झूले भवानी,
दर्शन कर मैया के राजेन्द्र न हारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।



गाओ रे झूमो रे नाचो रे गाओ,

आईं है मैया अंगनवा हमारे,
गाओ झूम झूम के,
नाचो झूम झूम के।।

गीतकार/गायक – राजेन्द्र प्रसाद सोनी।
8839262340