तू शक्ति है तू ज्वाला है मेरी बिगड़ी बनाने आ भजन लिरिक्स

तू शक्ति है तू ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ,
तुझे ही याद करता हूँ,
तुझे ही याद करता हूँ,
मुझे दर्शन दिखाने आ,
तु शक्ति है तु ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ।।

तर्ज – बेदर्दी बालमा तुझको।



किसी शुभ कर्म का फल है,

जो तू रग रग समाई है,
कई जन्मो की भक्ति है,
जो मेरे काम आई है,
मेरी नैया भंवर में है,
मेरी नैया भंवर में है,
किनारे पर लगाने आ,
तु शक्ति है तु ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ।।



तुम्हारे ही भरोसे पे,

जगत से मैंने मुख मोड़ा,
तुम्हारे ही सहारे पर,
है नाता सबसे है तोडा,
जो माँ बेटे का रिश्ता है,
जो माँ बेटे का रिश्ता है,
उसी को तू निभाने आ,
तु शक्ति है तु ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ।।



तरसता हूँ मैं दर्शन को,

ये क्या कर्मो का लेखा है,
हे माता वैसे तो कई बार,
तुम्हे ख्वाबों में देखा है,
दास को अपने चरणों में,
दास को अपने चरणों में,
ऐ वरदाती लगाने आ,
तु शक्ति है तु ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ।।



तू शक्ति है तू ज्वाला है,

मेरी बिगड़ी बनाने आ,
तुझे ही याद करता हूँ,
तुझे ही याद करता हूँ,
मुझे दर्शन दिखाने आ,
तु शक्ति है तु ज्वाला है,
मेरी बिगड़ी बनाने आ।।

Singer/Lyrics – Banwari Ji


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें