मैया री जगदम्बे मेरे मन में बसा तेरा प्यार भजन लिरिक्स

मैया री जगदम्बे मेरे मन में बसा तेरा प्यार भजन लिरिक्स

मैया री जगदम्बे,
मेरे मन में बसा तेरा प्यार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।

तर्ज – आजा रे परदेसी।



मैं बालक नादान भवानी,

कर मेरा कल्याण भवानी,
दे सद्बुद्धि ज्ञान भवानी री,
मैया री करो दिल के दूर विकार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।



रखिये माँ मेरा ख्याल भवानी,

ना चाहिए धन माल भवानी,
सबकी प्रतिपाल भवानी री,
मैया री तू ही सब जग की आधार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।



है दिल में विश्वास तुम्हारा,

कर दो हृदय में उजियारा,
डोले या नैया दूर किनारा री,
मैया री मेरी नाव पड़ी मजधार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।



ब्रम्हा विष्णु शिव ने ध्याई,

सबसे पहले माँ तू आई,
‘गुरु राम भक्त’ ने या बताई री,
मैया री वे तो छोड़ गए संसार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।



मैया री जगदम्बे,

मेरे मन में बसा तेरा प्यार,
आजा दर्शन दे एक बार,
मईया री जगदम्बे।।

स्वर – विधि देशवाल।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें