प्रथम पेज नागर जी भजन अंत समय प्रभु आना पड़ेगा कमल किशोर जी नागर भजन लिरिक्स

अंत समय प्रभु आना पड़ेगा कमल किशोर जी नागर भजन लिरिक्स

अंत समय प्रभु आना पड़ेगा,
प्रीत की रीत निभाना पड़ेगा।।



आये ना आये चाहे कुटुंब हमारा,

भक्तो के प्रभु आप सहारा,
भक्तो की लाज बचाना पड़ेगा,
अन्त समय प्रभु आना पड़ेगा।।



हे प्रभु हम पर कैसी भी बीती,

छोड़ी नही प्रभु तुमसे प्रीती,
प्रीत की रीत निभाना पड़ेगा,
अन्त समय प्रभु आना पड़ेगा।।



बिच भँवर में नैया मोरी,

लग रही नाथ आपसे डोरी,
नैया किनारे लगाना पड़ेगा,
अंत समय प्रभु आना पड़ेगा।।



दइया ना भैया कोई ना सुनइया,

खेवो नाथ हमारी नैया,
भव सिंधु से तिराना पड़ेगा,
अन्त समय प्रभु आना पड़ेगा।।



अंत समय प्रभु आना पड़ेगा,

प्रीत की रीत निभाना पड़ेगा।।


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।