मेरी नैया पड़ी है मजधार प्रभु इसे पार लगा देना

मेरी नैया पड़ी है मजधार,
प्रभु इसे पार लगा देना,
तेरी माला जपूँगा दिन रात,
प्रभु इसे पार लगा देना।।



मेरी नाव नही है नामी,

ना जानी है डोर लगानी,
कही डूब ना जाये मजधार,
प्रभु इसे पार लगा देना।।



मेरी नाव है बहुत पुरानी,

डूबने की है इसकी कहानी,
फिर डूब ना जाये इस बार,
प्रभु इसे पार लगा देना।।



तुम तो जानो प्रभु जी घट घट की,

मेरी नैया भवर बिच अटकी,
अब दूजो नही है आधार,
प्रभु इसे पार लगा देना।।



मेरी नैया पड़ी है मजधार,

प्रभु इसे पार लगा देना,
तेरी माला जपूँगा दिन रात,
प्रभु इसे पार लगा देना।।


https://youtu.be/nQ93XkRKrco

इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

आये नहीं घनश्याम जो साड़ी सर से सरकी द्रोपदी भजन लिरिक्स

आये नहीं घनश्याम जो साड़ी सर से सरकी द्रोपदी भजन लिरिक्स

आये नहीं घनश्याम, जो साड़ी सर से सरकी, सर की सरकी पाँचो वर की, आस लगी है मोहे गिरधर की, आये नही घनश्याम, जो साडी सर से सरकी।। aaye nahi…

कह दो कि जिंदगी में सदा मस्त रहेंगे भजन लिरिक्स

कह दो कि जिंदगी में सदा मस्त रहेंगे भजन लिरिक्स

कह दो कि जिंदगी में, सदा मस्त रहेंगे, हम राम राम राम, सीता राम भजेंगे, हम श्याम श्याम श्याम, राधेश्याम भजेगे।। तर्ज – अहसान मेरे दिल पे। जीवन में गम…

क्यों चिंता करता बेकार द्वारे पे तेरे खडो है दातार लिरिक्स

क्यों चिंता करता बेकार द्वारे पे तेरे खडो है दातार लिरिक्स

क्यों चिंता करता बेकार, द्वारे पे तेरे खडो है दातार, देगो चुगेरो है जाने चोंच दई।। तर्ज – आने से उसके आए। धन धान मान दियो है, और सुंदर दई…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

7 thoughts on “मेरी नैया पड़ी है मजधार प्रभु इसे पार लगा देना”

  1. बहुत ही अच्छा भजन है,, इस भजन का original वीडियो डालिए सर,, plz

    Reply

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे