तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी भजन लिरिक्स

तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी भजन लिरिक्स

तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,
तूने सजा दी है जिन्दगी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।

तर्ज – अब तो है तुमसे।



तेरे पास आए तो,

गम से दूर हो गए,
मजबूर थे हम श्याम,
मशहुर हो गए,
तूने मिटा दी है,
बेबसी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।



ज़माने से है जुदा,

श्याम तेरी माया,
बस मेरे गुणों को,
तूने है दिखाया,
तूने छूपा दी है,
हर कमी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।



तुमसे से ही प्रीत है,

तुमसे ही याराना,
इसीलिए तो है प्रभु,
दर पे आना जाना,
तू ही तो है प्यारे,
आशिकी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।



‘सोनू’ ने कभी ना की,

कोई फरमाइशे,
फिर तूने पूरी की,
मेरी हर ख्वाहिशे,
तू तो समझता है,
ख़ामोशी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।



तुमसे है बाबा हर ख़ुशी अपनी,

तूने सजा दी है जिन्दगी अपनी,
तुमसें है बाबा हर ख़ुशी अपनी।।

Singer – Sachin Ji Kedia


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें