थारी कृपा करो घनश्याम आसरो थारो लिन्यो है लिरिक्स

थारी कृपा करो घनश्याम आसरो थारो लिन्यो है लिरिक्स

थारी कृपा करो घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारा टाबर हाँ नादान,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।

तर्ज – आ लौट के आजा।



काली घटा से घिरा आसमां,

बिजली जोर दिखावै,
स्वार्थ भरे संसार में बाबा,
कोई ना साथ निभावै,
हारे का साथी श्याम,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।



भीड़ पडी है पलक उघाड़ो,

मत ना देर लगावो,
आँख्या खोलो हे गिरधारी,
छोड़ सिंहासन आवो,
थारो जग में ऊंचो नाम,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।



भूल चूक बिसराओ देवा,

जल्दी हुकुम सुणावो,
लखदातार कुहाओ बाबा,
दातारी दिखलावो,
ना देर करो घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।



रो रो पुकारुं थानै निहारुं,

बाट उडिकु मैं देवा,
‘देवकीनन्दन’ देवो साँवरा,
थारै चरण की सेवा,
थानै हाथ जोड़ प्रणाम,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।



थारी कृपा करो घनश्याम,

आसरो थारो लिन्यो है,
थारा टाबर हाँ नादान,
आसरो थारो लिन्यो है,
थारी कृपा करों घनश्याम,
आसरो थारो लिन्यो है।।

– गायक एवं प्रेषक –
Devkinandan Periwal
+977 9851149146


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें