दादी थारो नाम लागे भक्ता ने प्यारो है भजन लिरिक्स

दादी थारो नाम लागे भक्ता ने प्यारो है भजन लिरिक्स

दादी थारो नाम,
लागे भक्ता ने प्यारो है,
दादी थारों नाम,
म्हारे जीने को सहारो है,
दादी थारों नाम।।

तर्ज – एक तेरा साथ हमको।



थारो नाम लेता ही,

लागे है ज्यूँ म्हाने,
कि थे हो सामने,
कितनो ही बड़ो हो काम,
थारो नाम कर देवे,
छोटो सो काम ने,
म्हारो तो दादी,
थारे नाम स्यु गुज़ारो है,
दादी थारों नाम,
म्हारे जीने को सहारो है,
दादी थारों नाम।।



जद सु लियो थारो नाम,

बणने लग्या है काम,
कि इब तो मौज़ है,
खुशियां ही खुशियां है,
इ जिंदगानी में,
की मस्ती रोज़ है,
दादी थारों नाम,
म्हारे जीवन को रखवारो है,
म्हारे जीने को सहारो है,
दादी थारों नाम।।



थारो नाम जो लेवे,

भव से उतर जावे,
थारो नाम ही काफी है,
कितनो ही बड़ो पापी,
लेवे जो नाम थारो,
मिल जावे माफ़ी है,
थारे नाम स्यु दादी,
म्हारे जीवन में उजियारो है,
म्हारे जीने को सहारो है,
दादी थारों नाम।।



दादी थारो नाम,

लागे भक्ता ने प्यारो है,
दादी थारों नाम,
म्हारे जीने को सहारो है,
दादी थारों नाम।।

स्वर – मोनू जी दाधीच।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें