रूप सलोना देख श्याम का सुधबुध मेरी खोई भजन लिरिक्स

रूप सलोना देख श्याम का,
सुधबुध मेरी खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई,
कमली श्याम दी कमली,
कमली श्याम दी कमली।।



सखी पनघट पर यमुना के तट पर,

लेकर पहुंची मटकी,
भूल गई सब एक बार जब,
छवि देखि नटखट की,
देखत ही मैं हुई बाँवरी,
उसी रूप में खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।

रूप सलोना दैख श्याम का,
सुधबुध मेरी खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।।



कदम के नीचे अखियाँ मीचे,

खड़ा था नन्द का लाला,
मुख पर हंसी हाथ में बंसी,
मोर मुकुट गल माला,
तान सुरीली मधुर नशीली,
तन मन दियो भिगोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।

रूप सलोना दैख श्याम का,
सुधबुध मेरी खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।।



सास ननन्द मोहे पल-पल कोसे,

हर कोई देवे ताने,
बीत रही क्या मुझ बिरहन पर,
ये कोई नहीं जाने,
पूछे सब निर्दोष बावरी,
तट पर काहे गई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।

रूप सलोना दैख श्याम का,
सुधबुध मेरी खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई।।



रूप सलोना देख श्याम का,

सुधबुध मेरी खोई,
नी मैं कमली होई,
नी मैं कमली होई,
कमली श्याम दी कमली,
कमली श्याम दी कमली।।

Singer : Jaya Kishori Ji


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ओय राधे प्यार ना करियो दिल टूट जाता भजन लिरिक्स

ओय राधे प्यार ना करियो दिल टूट जाता भजन लिरिक्स

ओय राधे प्यार ना करियो, करियो दिल टूट जाता है, चाहत की बात ना करियो, डरियो दिल टूट जाता है, दिल दीवाना तू ना आना, दिल की बातों में सोच…

छुप छुप मीरा रोए दर्द ना जाने कोए भजन लिरिक्स

छुप छुप मीरा रोए दर्द ना जाने कोए भजन लिरिक्स

मोसे मेरा श्याम रूठा, काहे मोरा भाग फूटा, काहे मैंने पाप ढोए, अंसुवन बीज बोए, छुप छुप मीरा रोए, दर्द ना जाने कोए, मोसे मेरा श्याम रूठा।। जय श्याम राधेश्याम…

मायरा री बेला आई चुनरी बाई ने ओढ़ाई भजन लिरिक्स

मायरा री बेला आई चुनरी बाई ने ओढ़ाई

मायरा री बेला आई, चुनरी बाई ने ओढ़ाई, चंग मजीरा बाजे आँगणे, मन में हरियाली छाई, चुनरी बाई ने ओढ़ाई, चंग मजीरा बाजे आँगणे।। सांवरिया लाल मायरो तो, भर दे…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “रूप सलोना देख श्याम का सुधबुध मेरी खोई भजन लिरिक्स”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे