मीरा के गोपाल राधा के श्याम भजन लिरिक्स

मीरा के गोपाल,
राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम,
भजु तुमको निशदिन,
सुबह और शाम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।

तर्ज – तेरा मेरा प्यार अमर।



तेरी माया का प्रभु,

पाया कोई पार ना,
तेरी लीला का कोई,
जान पाया सार ना,
आए समझ में,
ना तेरा विधान,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।
मीरा के गोंपाल,
राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।



अपने भक्तों का कभी,

टलने देते मान ना,
दौड़े नंगे पाँव तुम,
लाज रखने को सदा,
हे भक्तवत्सल,
जपु तेरा नाम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।
मीरा के गोंपाल,
राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।



सारी श्रष्टि पे प्रभु,

आपकी सत्ता चले,
आपकी मर्जी बिना,
पत्ता तक भी ना हिले,
तीनो लोको में,
ऊँची है शान,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।
मीरा के गोंपाल,
राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।



तुम ही दीनानाथ हो,

तुम ही दीनबंधु हो,
बेसहारो के सखा,
तुम दया के सिंधु हो,
करुणा सागर,
हे करुणा निधान,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।
Bhajan Diary Lyrics,
मीरा के गोंपाल,
राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।



मीरा के गोपाल,

राधा के श्याम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम,
भजु तुमको निशदिन,
सुबह और शाम,
तुमको हे गोविन्द,
शत शत प्रणाम।।

स्वर – राजू मेहरा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें