मेरे श्याम संवरना छोड़ो नजरिया लग जाएगी भजन लिरिक्स

मेरे श्याम संवरना छोड़ो,
मेरे श्याम संवरना छोड़ो,
नजरिया लग जाएगी,
नजरिया लग जाएगी,
ओ छलिये।।

तर्ज – उड़े जब जब जुल्फे तेरी।



लटके यूँ लट घुंघराली,

लटके यूँ लट घुंघराली,
बिजुरिया गिर जाएगी,
बिजुरिया गिर जाएगी,
ओ छलिये।।



नैनो के खंजर मारे,

नैनो के खंजर मारे,
गुजरिया मर जाएगी,
गुजरिया मर जाएगी,
ओ छलिये।।



क्यों तान सुरीली छेड़े,

क्यों तान सुरीली छेड़े,
बाँसुरिया छल जाएगी,
बाँसुरिया छल जाएगी,
ओ छलिये।।



तेरी चाल बड़ी है नवाबी,

तेरी चाल बड़ी है नवाबी,
गगरिया हिल जाएगी,
गगरिया हिल जाएगी,
ओ छलिये।।



तुझे देख गुजरिया नाचे,

तुझे देख गुजरिया नाचे,
चुनरिया उड़ जाएगी,
चुनरिया उड़ जाएगी,
ओ छलिये।।



तोहे ‘हर्ष’ निरखते यूँ ही,

तोहे ‘हर्ष’ निरखते यूँ ही,
उमरिया ढल जाएगी,
उमरिया ढल जाएगी,
ओ छलिये।।



मेरे श्याम संवरना छोड़ो,

मेरे श्याम सवरना छोड़ो,
नजरिया लग जाएगी,
नजरिया लग जाएगी,
ओ छलिये।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें