लख लख दिवला री ए आरती तेजाजी रे धाम लिरिक्स

लख लख दिवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम,
रमती जगती ए आरती आ,
खरनाल्या रे धाम।।



गढ़ खरनालया में धाम सोवणो,

धजा फरूखे आसमान,
ढोल नगाड़ा और शंख बाजे,
आरतीया रे माय,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



ऊंची मेङी ओ आप विराजो,

तेजा भालो भलके हाथ,
मूरत लागे सोवणी थारे,
भाला पर सोवे कालो नाग,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



हे लीलण री थारे ओ सोवे असवारी,

तेजाजी महाराज,
हेले हाजिर ओ होवजो तेजा,
सारो सब रा काज,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



दुर देशों रा ओ आवे जातरू,

लुल लुल शीश नमाय,
सब रा सकंट मेटजो तेजा,
सिर पर हाथ धराय,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



लाडू चाढू ओ चुरमा जी,

थारे गुङ री खीर चढाय,
भक्त चढ़ावे ओ भाव सूं तेजा,
भक्तों रा भरो भंडार,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



हरीराम जी ओ किंवाङा थारे,

चरणों में शीश नमाय,
जोगाराम प्रजापत ओ गाए सुणावे,
तेजा राखो चरण रे माय,
लख लख दीवला री ए आरती,
म्हारे तेजाजी रे धाम।।



लख लख दिवला री ए आरती,

म्हारे तेजाजी रे धाम,
रमती जगती ए आरती आ,
खरनाल्या रे धाम।।

गायक – जोगाराम जी प्रजापत।
हाथीतला बाङमेर 9587984999


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम जग में साचो थारो नाम

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम जग में साचो थारो नाम

ओ म्हारा रुणीजा रा श्याम, जग में साचो थारो नाम, पगल्या पुजवाया थारा मारवाड़ में।। धरती राजस्थान में वो, रुणिचो इक गांव, दूर देश रा आवे जातरी, लेवे थारो नाम,…

नाम रो दीवानों ज्यारो कोई क्या करे रे भजन लिरिक्स

नाम रो दीवानों ज्यारो कोई क्या करे रे भजन लिरिक्स

नाम रो दीवानों ज्यारो, दोहा – राम नाम की लूट है, और लूट सके तो लूट, अंत समय पछतायेगा, तेरो प्राण जायेगो छूट। राम नाम सब कोई कहे, ओर ठग…

आईजी जगमग जागी केसर वाली ज्योत भजन लिरिक्स

आईजी जगमग जागी केसर वाली ज्योत भजन लिरिक्स

आईजी जगमग जागी, केसर वाली रे ज्योत, भगतो ने दर्शन देवजो, ओ मैया भगत आया, थोरोडे दरबार, भगतो री विनती साम्भलो, ओ आईजी शक्ति रा, थे कहिजो अवतार, थोरी महिमा…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे