मगरे मगरे मोर बोले धोरां मे बोले ढेल जानो मेला में

मगरे मगरे मोर बोले,
अरे धोरां मे बोले ढेल,
जानो मेला में,
अरे मगरें मगरे मोर बोले,
अरे धोरां मे बोले ढेल,
जानो मेला में,
अरे मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।



ए अरे तीन जिलो ती मेणा आवे,

पाली जालौर सिरोही नमतो आवे,
ए आवे नर नारी साथ,
जानो मेला में,
ए बालकीया आवे साथ,
जानो मेला में,
मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।



ए भगतो रा टोला आवे मेला में,

ए भगतो रा टोला आवे मेला में,
ए चरने नमावे शिश,
जानो मेला में,
ए चरने नमावे शिश,
जानो मेला में,
बचमेती अलगा रेवो,
जानो मेला में,
मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।



ए पैदल भूरारामजी मधुपुरती आवे,

ए पैदल भूरारामजी मधुपुरती आवे,
ए फुलडो री माला हाथ,
जानो मेला में,
ए फुलडो री माला हाथ,
जानो मेला में,
मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।



ए बाबा गौतम ऋषि री महिमा गावु,

भूरीया बाबा री महिमा गावु,
दास कन्हैयो चरना माय,
आवु मेला में,
ए मेला में साथे आज,
आवु मेला में,
मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।



मगरें मगरे मोर बोले,

अरे धोरां मे बोले ढेल,
जानो मेला में,
अरे मगरें मगरे मोर बोले,
अरे धोरां मे बोले ढेल,
जानो मेला में,
अरे मारा गौतमजी रो धाम,
जानो मेला में,
ए भूरीया बाबा रो धाम,
जानो मेला में हा।।

गायक – संत कन्हैयालाल जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें