खिलौना माटी का तूने अजब रचा भगवान भजन लिरिक्स

तूने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का,
माटी का रे माटी का,
माटी का रे माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।



कान दिए हरि भजन सुनन को,

कान दिए हरि भजन सुनन को,
तू मुख से कर गुणगान,
खिलोना माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।



जीव्हा दी हरि भजन करन को,
जीव्हा दी हरि भजन करन को,
दी आँखे कर पहचान,
खिलोना माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।



शीश दिया गुरु चरण झुकन को,

शीश दिया गुरु चरण झुकन को,
और हाथ दिए कर दान,
खिलोना माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।



सत्य नाम का बना के बेड़ा,

सत्य नाम का बना के बेड़ा,
और उतरे भव से पार,
खिलोना माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।



तूने अजब रचा भगवान,

खिलौना माटी का,
माटी का रे माटी का,
माटी का रे माटी का,
तुने अजब रचा भगवान,
खिलौना माटी का।।

स्वर – तृप्ति शाक्या।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

खेती खेड़ो रे हरिनाम की जामे मुकतो है लाभ

खेती खेड़ो रे हरिनाम की जामे मुकतो है लाभ

खेती खेड़ो रे हरिनाम की, जामे मुकतो है लाभ।। पाप का पालवा कटावजो, काठी बाहर राल, कर्म की फाँस एचावजो, खेती निरमळ हुई जाय, खेती खेडो रे हरिनाम की, जामे…

इस दुनिया में सुंदर सुंदर फूल खिलाने वाला लिरिक्स

इस दुनिया में सुंदर सुंदर फूल खिलाने वाला लिरिक्स

इस दुनिया में सुंदर सुंदर, फूल खिलाने वाला, तरह तरह की कठपुतली को, नाच नचाने वाला, बोलो कौन है, बोलो बोलो कौन है, सबकुछ करता रहता, फिर भी मौन है,…

हमें निज धर्म पर चलना सिखाती रोज़ रामायण भजन लिरिक्स

हमें निज धर्म पर चलना सिखाती रोज़ रामायण भजन लिरिक्स

हमें निज धर्म पर चलना, सिखाती रोज़ रामायण, सदा शुभ आचरण करना, सिखाती रोज़ रामायण।। जिन्हे संसार सागर से, उतर कर पार जाना है, उन्हे सुख के किनारे पर, लगाती…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

2 thoughts on “खिलौना माटी का तूने अजब रचा भगवान भजन लिरिक्स”

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे