कभी राम बन के कभी श्याम बन के चले आना भजन लिरिक्स

कभी राम बन के, कभी श्याम बन के,
चले आना प्रभु जी चले आना।



तुम राम रूप में आना, 

सीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके,
चले आना प्रभु जी चले आना॥



तुम श्याम रूप में आना, 

राधा साथ लेके,  मुरली हाथ लेके चले आना,
प्रभु जी चले आना॥



तुम शिव के रूप में आना, 

गौरा साथ लेके, डमरू हाथ लेके,
चले आना प्रभु जी चले आना॥



तुम विष्णु रूप में आना, 

लक्ष्मी साथ लेके,  चक्र हाथ लेके,
चले आना प्रभु जी चले आना॥



तुम गणपति रूप में आना, 

रिद्धी साथ लेके, सिद्धी साथ लेके चले आना,
प्रभु जी चले आना॥



कभी राम बन के, कभी श्याम बन के,

चले आना प्रभु जी चले आना।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

​पत्थर की राधा प्यारी पत्थर के कृष्ण मुरारी भजन लिरिक्स

​पत्थर की राधा प्यारी पत्थर के कृष्ण मुरारी भजन लिरिक्स

​पत्थर की राधा प्यारी, पत्थर के कृष्ण मुरारी, पत्थर से पत्थर घिस कर, पैदा होती चिंगारी,  पत्थर की नारी अहिल्या, पग से श्री राम ने तारी, पत्थर के मठ में…

भूल गया मानव मर्यादा जब कलयुग की हवा चली लिरिक्स

भूल गया मानव मर्यादा जब कलयुग की हवा चली लिरिक्स

भूल गया मानव मर्यादा, जब कलयुग की हवा चली, धूप कपुर ना बिके नारियल, दारू बिक रही गली गली।। तर्ज – क्या मिलिए ऐसे लोगो। देखे – कलयुग बैठा मार…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे