गुरुदेव कृपा बरसा दे गुरु महिमा भजन लिरिक्स

गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दे,
मैं भिखारी तेरे,
मैं भिखारी तेरे,
दर्शनो का तू दर्शन करा दे,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।

तर्ज – श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।



बिन तुम्हारी महर ऐ गुरुवर,

बिन तुम्हारी महर ऐ गुरुवर,
कैसे संवरेगी ये,
कैसे संवरेगी ये,
जिंदगानी तू ही समझा दे,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।



धन दौलत की किसको तमन्ना,

धन दौलत की किसको तमन्ना,
है दीवाने तेरे,
है दीवाने तेरे,
इन चरणों मे थोड़ी जगह दे,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।



मेरे दिल को लगन बस तुम्हारी,

मेरे दिल को लगन बस तुम्हारी,
गुरु मुझको तेरी,
गुरु मुझको तेरी,
प्रैम गंगा में डुबकी लगा दे,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।



जिंदगी बिन गुरु के अधूरी,

जिंदगी बिन गुरु के अधूरी,
तुमको पालूँ अगर,
तुमको पालूँ अगर,
मेरा जीवन सफल हो जाये,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।



गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,

गुरुदेव कृपा बरसा दे,
मैं भिखारी तेरे,
मैं भिखारी तेरे,
दर्शनो का तू दर्शन करा दे,
गुरु ऐसी कृपा बरसा दे,
गुरुदेव कृपा बरसा दें।।

गायक / प्रेषक – अशोक कुमार जांगिड़।
सवाई माधोपुर राजस्थान।
9828123517