वर दे वीणा वादिनि वर दे माँ सरस्वती वंदना लिरिक्स

वर दे वीणा वादिनि वर दे,
प्रिय स्वतंत्र रव अमृत-मंत्र नव,
भारत में भर दे,
वर दे विणा वादिनि वर दे।।



काट अंध-उर के बंधन-स्तर,

बहा जननि, ज्योतिर्मय निर्झर,
कलुष-भेद-तम हर प्रकाश भर,
जगमग जग कर दे,
वर दे विणा वादिनि वर दे।।



नव गति, नव लय, ताल-छंद नव,

नवल कंठ, नव जलद-मन्द्ररव;
नव नभ के नव विहग-वृंद को,
नव पर नव स्वर दे,
वर दे विणा वादिनि वर दे।।



वर दे वीणा वादिनि वर दे,

प्रिय स्वतंत्र रव अमृत-मंत्र नव,
भारत में भर दे,
वर दे विणा वादिनि वर दे।।

Singer – Chetna


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है भजन लिरिक्स

चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है भजन लिरिक्स

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है। दोहा – माता जिनको याद करे, वो लोग निराले होते हैं। माता जिनका नाम पुकारे, किस्मत वाले होतें हैं। चलो बुलावा आया…

विंध्याचल की विंध्यवासिनी नमन करो स्वीकार माँ लिरिक्स

विंध्याचल की विंध्यवासिनी नमन करो स्वीकार माँ लिरिक्स

विंध्याचल की विंध्यवासिनी, नमन करो स्वीकार माँ, मेरो नमन करो स्वीकार माँ।। धुप नारियल फूल चढाने, धुप नारियल फूल चढाने, लाए तेरे दरबार माँ, मैया लाए तेरे दरबार माँ, विन्ध्याचल…

चलो वैष्णव माता के द्वार भजन लिरिक्स

चलो वैष्णव माता के द्वार भजन लिरिक्स

चलो वैष्णव माता के द्वार, वहाँ मिलता है माँ का प्यार, जमाना बोलता है, जमाना बोलता है, इन्हें पूजे सारा संसार, करे माँ सबका बेड़ा पार, जमाना बोलता है, जमाना…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे