श्याम ऐसी कृपा बरसा दे भजन लिरिक्स

श्याम ऐसी कृपा बरसा दे भजन लिरिक्स

श्याम ऐसी कृपा बरसा दे,
है दीवाने तेरे,
है दीवाने तेरे,
इन दीवानो से अंखिया मिला ले,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।

तर्ज – हम तुम्हे चाहते है ऐसे।



बिन तुम्हारी मेहर ऐ कन्हैया,

बिन तुम्हारी मेहर ऐ कन्हैया,
कैसे संवरेगी ये,
कैसे संवरेगी ये,
ज़िंदगानी मेरी समझा दे,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।



धन दौलत की किसको तमन्ना,

धन दौलत की किसको तमन्ना,
मैं भिखारी तेरे,
मैं भिखारी तेरे,
दर्शनों का तू दर्शन करा दे,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।



मेरे दिल को लगन बस तुम्हारी,

मेरे दिल को लगन बस तुम्हारी,
‘नंदू’ कुछ ना मिले,
‘नंदू’ कुछ ना मिले,
प्रेम गंगा में डुबकी लगा दे,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।



चाहूँ चरणों में तेरे ठिकाना,

चाहूँ चरणों में तेरे ठिकाना,
तेरी मर्जी है क्या,
तेरी मर्जी है क्या,
फैसला श्याम अपना सुना दे,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।



श्याम ऐसी कृपा बरसा दे,

है दीवाने तेरे,
है दीवाने तेरे,
इन दीवानो से अंखिया मिला ले,
श्याम ऐसी कृपा बरसा दे।।

स्वर – मुकेश बागड़ा।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें