फागण का महीना आ गया चालो रे खाटू चालो

फागण का महीना आ गया,
चालो रे खाटू चालो,
सांवरिया तुम्हे बुला रहा,
चालो रे खाटू चालो,
मेरे श्याम है लखदातार,
करके बाबा की जयकार,
हम भी सबसे अब तो ये कहें,
रंग श्याम पे सब पे छ गया,
चालो रे खाटू चालो,
फागन का महीना आ गया,
चालो रे खाटू चालो।।

तर्ज – दिल चोरी साडा हो गया।



रींगस में आके पहले,

बाबा को शीश झुका लो,
फिर करके सब तैयारी,
तुम एक निशान उठा लो,
भक्तों का संग मन भा गया,
चालो रे खाटू चालो,
फागन का महीना आ गया,
चालो रे खाटू चालो।।



जो पैदल चलकर आता,

वो खाली हाथ ना जाता,
जो लगन हो ‘टीटू’ सच्ची,
तो बाबा गले लगाता,
वो बिन मांगे सब पा गया,
फागन का महीना आ गया,
चालो रे खाटू चालो।।



फागण का महीना आ गया,

चालो रे खाटू चालो,
सांवरिया तुम्हे बुला रहा,
चालो रे खाटू चालो,
मेरे श्याम है लखदातार,
करके बाबा की जयकार,
हम भी सबसे अब तो ये कहें,
रंग श्याम पे सब पे छ गया,
चालो रे खाटू चालो,
फागन का महीना आ गया,
चालो रे खाटू चालो।।

Singer – Priyanka Sonkar


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें