प्रथम पेज प्रकाश माली भजन दो दो गुजरीया के बीच में अकेलो सावरियो लिरिक्स

दो दो गुजरीया के बीच में अकेलो सावरियो लिरिक्स

दो दो गुजरीया के बीच में,
अकेलो सावरियो,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो,
अकेलो सावरियो रे अकेलो सावरियो,
अकेलो सावरियो रे अकेलो सावरियो,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो।।



एक गुजरी केवे कान्हा लाडू माने लायदे,

एक गुजरी केवे कान्हा लाडू माने लायदे,
कानजी लाडू माने लायदे,
दुजी गुजरी केवे कान्हा लाडू मने खिलादे,
दूजी गुजरी केवे कान्हा लाडू मने खिलादे,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो।।



एक गुजरी घडीयां मांगे आधी आधी रात,

एक गुजरी घडीयां मांगे आधी आधी रात,
कानजी आधी आधी रात,
अरे दूजी गुजरी पुदीना मांगे उगतडे प्रभात,
अरे दूजी गुजरी पुदीना मांगे उगतडे प्रभात,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो।।



एक गुजरी बोली कान्हा मारे घर तू आजा,

एक गुजरी बोली कान्हा मारे घर तू आजा,
कन्हैया मारे घर तू आजा,
दूजी गुजरी बोली कान्हा माखन मिसरी खाजा,
दूजी गुजरी बोली कान्हा माखन मिसरी खाजा,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो।।



दो दो गुजरीया के बीच में,

अकेलो सावरियो,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो,
अकेलो सावरियो रे अकेलो सावरियो,
अकेलो सावरियो रे अकेलो सावरियो,
दो दो गुजरिया के बीच में,
अकेलो सावरियो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।