छम छम बाजे घूघरिया राजस्थानी भजन लिरिक्स

छम छम बाजे घूघरिया,
सब दिखलाये काना,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



द्वारकासु ऊडुकाश्मीर,

आ गये आ गये ,
कुंकु पगलिया अजमल घर,
मंडवागये मंडवागये,
पानी रो दूध बनावनिया,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



भूमि सु भार उतारण कारण,

आ गये आ गये ,
बालिनाथजी गुरूजी मन में,
भा गये भा गये,
भैरव देते मारनिया,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



रामदेव अवतारी दर्शन,

दे गये दे गये ,
भादवा की बिज यो मेलो,
भरा गये भरा गये,
भक्ता कारज सारणियाँ,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



भादवा की बीज या लागे,

सुहावनी सुहावनी ,
आनंद मंगला गावे कोई,
कामनी कामनी,
रिमझिम बरसे मेहुड़ा,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



कलयुग में जात पात को,

मिटा गये मिटा गये,
डाली बाई को मान यो बाबा,
बड़ा गये बड़ा गये,
भेद भाव नी मिटावनिया,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



लिलो घोड़ो बाबा थारो,

सुहावनो सुहावनो ,
भक्ता रो मनडो बाबा यो तो,
मोहवनो मोहवनो,
‘श्याम पालीवाल’ गावता,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।



छम छम बाजे घूघरिया,

सब दिखलाये काना,
मेरे घर आये काना,
मेरे घर आये आये मेरे घर आये,
छम छम बाजे घूघरिया।।

“श्रवण सिंह राजपुरोहित द्वारा प्रेषित”
सम्पर्क : +91 9096558244


2 टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें