प्रथम पेज राजस्थानी भजन चीन मत कर तू चालाकी देशभक्ति गीत लिरिक्स

चीन मत कर तू चालाकी देशभक्ति गीत लिरिक्स

चीन मत कर तू चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी,
तेरा होगा सत्यानाश,
तेरा होगा सत्यानाश,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



छोटी आँखीया वाला चीन,

रोग रो सौदागर तू,
पूरी दुनिया तो थापे,
आज करे थू थू,
छोटी आँखीया वाला चीन,
रोग रो सौदागर तू,
पूरी दुनिया तो थापे,
आज करे थू थू,
थारी इज्जत होवेला नीलाम,
थारी इज्जत होवेला नीलाम,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



निहत्थो पे वार करनो,

ओछी थारी आदत है,
हिन्द के जवान अब,
थारे लिए घातक है,
निहत्थो पे वार करनो,
ओछी थारी आदत है,
हिन्द के जवान अब,
थारे लिए घातक है,
थारो करसी काम तमाम,
थारो करसी काम तमाम,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



ओतो चीन जीनो तू,

बाजन घणो लागो है,
भारत के तो ६५ वालो,
बदलो भी लेनो है,
ओतो चीन जीनो तू,
बाजन घणो लागो है,
भारत के तो ६५ वालो,
बदलो भी लेनो है,
थारे मुँह पे पडेगी मार,
थारे मुँह पे पडेगी मार,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



सहनशीलता भारत की,

अब सिर ऊपर जावे है,
हिन्दुस्तानी फौज ने,
अब गुस्सो घणो आवे है,
सहनशीलता भारत की,
अब सिर ऊपर जावे है,
हिन्दुस्तानी फौज ने,
अब गुस्सो घणो आवे है,
थारे सिर पे खडो है काल,
थारे सिर पे खडो है काल,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



लखन चौधरी लिखे,

गावे ‘सुनीता’ ओ गानों है,
अब तो सुधरजा चीन,
म्हारो वही कहनो है,
लखन चौधरी लिखे,
गावे ‘सुनीता’ ओ गानों है,
अब तो सुधरजा चीन,
म्हारो वही कहनो है,
नहीं तो मिट जासी नाम तमाम,
नही तो मिट जासी नाम तमाम,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।



चीन मत कर तू चालाकी,

चीन मत कर तूं चालाकी,
तेरा होगा सत्यानाश,
तेरा होगा सत्यानाश,
चीन मत कर तूं चालाकी,
चीन मत कर तूं चालाकी।।

लेखक – लखन चौधरी जी।
गायक – सुनीता जी स्वामी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।