सायल मारी साम्भलो थे अजमल घर अवतारी लिरिक्स

सायल मारी साम्भलो थे,
अजमल घर अवतारी ओ,
एकर दर्श दिखावो माने,
निकलंक नेजाधारी ओ,
एकर दर्श दिखावो माने,
निकलंक नेजाधारी ओ जे ए हा।।



कुंकुम पगल्या मांड्या बाबो,

दीनी दूध उतारी ओ,
कुंकुम पगल्या मांड्या बाबो,
दीनी दूध उतारी ओ,
कपडा रो घोडलीयो उडायो,
मिसरी कर दिनी खारी ओ,
कपडा रो घोडलीयो उडायो,
मिसरी कर दिनी खारी ओ जे ए हा।।



भेरूडा राकस ने मार्यो,

भूमि रो भार हटायो ओ,
भेरूडा राकस ने मार्यो,
भूमि रो भार हटायो ओ,
सुगना रा भानु ने जिवायो,
नाव तारी बोयता री ओ,
सुगना रा भानु ने जिवायो,
नाव तारी बोयता री ओ जे ए हा।।



पीरा ने परचो दिखलायो,

डाली बाई ने तारी ओ,
पीरा ने परचो दिखलायो,
डाली बाई ने तारी ओ,
जातपात रो भेद मिटायो,
जाने दुनिया सारी ओ,
जातपात रो भेद मिटायो,
जाने दुनिया सारी ओ जे ए हा।।



भीड पडी है वेगा आईजो,

लीले री असवारी ओ,
भीड पडी है वेगा आईजो,
लीले री असवारी ओ,
फेपसिंह चरना रो चाकर,
करे सेवना थारी ओ,
फेपसिंह चरना रो चाकर,
करे सेवना थारी ओ जे ए हा।।



सायल मारी साम्भलो थे,

अजमल घर अवतारी ओ,
एकर दर्श दिखावो माने,
निकलंक नेजाधारी ओ,
एकर दर्श दिखावो माने,
निकलंक नेजाधारी ओ जे ए हा।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

जाग जाग मेरी गंगा माई दुनिया दर्शन आयी जी

जाग जाग मेरी गंगा माई दुनिया दर्शन आयी जी

दुनिया दर्शन आयी जी, दुनिया दर्शन आयी जी, जाग जाग मेरी गंगा माई, जाग जाग मेरी गंगा माईं, दुनिया दर्शन आयी जी, जाग जाग मेरी गंगा माईं।। राम जागे लक्ष्मण…

भेरूजी सोनाला नगरी में थोरो बेसनो भजन लिरिक्स

भेरूजी सोनाला नगरी में थोरो बेसनो भजन लिरिक्स

भेरूजी सोनाला नगरी में थोरो बेसनो, भगतो रा बुलाया, वेगा आवो मारा भेरूजी, ए पधारो मारा खेतलाजी, आज री जागन में, वेगा आवजो भेरूजी।। भेरूजी संगडो आवे कोसेलाव गाँव ती,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे