अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया भजन लिरिक्स

अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया,
आवो पधारो म्हारे आंगणिया,
ओ म्हारे आंगणिया,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।

तर्ज – खम्मा खम्मा हो रामा रुणिचे रा।



दिन बीत्या राता बीती,

बाबा थाने टेरता,
बरसो रा बरस बीता,
माला थारी फेरता,
हाथा री दूखन लागी आंगालियाँ,
हाथा री दूखन लागी आंगालियाँ,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।



आस विश्वास लिए,

थारी बाट जोऊँ रे,
रामापीर आसी आसी,
करता दिन खोऊँ रे,
रात्या बिताऊं करके जागणिया,
रात्या बिताऊं करके जागणिया,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।



रुणिचे रा राजा थने,

घणी घणी खम्मा हो,
दो करोड़ थे म्हाने दीजो,
बाकी राखो जम्मा हो,
थे हो देवनिया म्हे हा लेवणिया,
थे हो देवनिया म्हे हा लेवणिया,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।



भगता री पुकार सुण,

रामापीर आयो हैं,
दास थारा दर्शन करके,
अति सुख पायो है
म्हारी माला का बाबा थे हो मणिया,
म्हारी माला का बाबा थे हो मणिया,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।



अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया,

आवो पधारो म्हारे आंगणिया,
ओ म्हारे आंगणिया,
अजमाल जी रा कंवरा,
अर्जी थे म्हारी सुणलो रुनिचे रा धणिया।।

गायक – सौरभ मधुकर।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

मैं तो गुरूवर रा गुण गाऊँ म्हारी माँ म्हारो मन लाग्यो भगती में

मैं तो गुरूवर रा गुण गाऊँ म्हारी माँ म्हारो मन लाग्यो भगती में

मैं तो गुरूवर रा गुण गाऊँ म्हारी माँ, दोहा – गौ गंगा और गायत्री से, ऊपर गुरू रो नाम, गुरू ही मार्ग सुझावीयो, जिन पूजे खुद राम। मैं तो गुरूवर…

काया ने सिंगार कोयलिया पर मंडली मत जइजो रे

काया ने सिंगार कोयलिया पर मंडली मत जइजो रे

काया ने सिंगार कोयलिया, पर मंडली मत जइजो रे।। श्लोक – गोरे गोरे अंग पे गुमान क्या बावरे, रंग तो पतंग तेरो कल उड़ जावेलो, धुएं जैसे धन तेरो जातो…

मारवाड़ रो बाणीयो जायरे समंद री तीर रे

मारवाड़ रो बाणीयो जायरे समंद री तीर रे

मारवाड़ रो बाणीयो, जायरे समंद री तीर रे, मिलीया धनी रामदेव, लुल लुल लागे पाव रे, अरे मारवाड़ रो बाणीयों, जायरे समंद री तीर रे।। अरे लुल लुल लागे पाव…

नदिया रा नीर सांवरा रोक ने बतावा भजन लिरिक्स

नदिया रा नीर सांवरा रोक ने बतावा भजन लिरिक्स

नदिया रा नीर सांवरा रोक ने बतावा, म्हारे नैना मायलो नीर रुकेला नही रे, म्हारा बिछडियोला रामजी मिलेला कही रे, म्हारा बिछडियोला रामजी मिलेला कही रे।। हाथसु लिखियोड़ा कागज वाच…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे