आज मेरे सांवरे का सारा जगत दीवाना है भजन लिरिक्स

आज मेरे सांवरे का,
सारा जगत दीवाना है,
बिना मांगे मिले सब कुछ,
ऐसा अजब ठिकाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।

तर्ज – सांवरे से मिलने का।



बाबा ऐसा दानी है,

करता इनकार नहीं,
जो भी मांगो मिल जाये,
जो भी मांगो मिल जाये,
ऐसा खुला खजाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।



सेवा दिन रात करूँ,

हर पल हर एक क्षण,
अरे मै भी तेरा बन जाऊ,
मै भी तेरा बन जाऊ,
तुझे अपना बनाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।



जैसा भी हूँ तेरा हूँ,

करो स्वीकार प्रभु,
लाख चोरासी से,
लख चोरासी से,
मुझे पार लगाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।



बाबा करो ऐसा जतन,

मुझे तेरा दर्शन हो,
बांके बिहारी तेरा,
बांके बिहारी तेरा,
आशीर्वाद हमे पाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।



आज मेरे सांवरे का,

सारा जगत दीवाना है,
बिना मांगे मिले सब कुछ,
ऐसा अजब ठिकाना है,
आज मेरे साँवरे का,
सारा जगत दीवाना है।।

Singer : Rahul Saanwra


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें