प्रथम पेज फिल्मी तर्ज भजन सुमर ले राम को तजके तू मान भजन लिरिक्स

सुमर ले राम को तजके तू मान भजन लिरिक्स

सुमर ले राम को तजके तू मान
सदा ना रहेगा तेरा तन ऽऽऽ ॥
सुमर ले …
(तर्ज :- नजर के सामने जिगर के )

सुमर ले राम को तजके तू मान
सदा ना रहेगा तेरा तन ऽऽऽ ॥
सुमर ले …

साथ मेँ क्या लाया तू जब था आया जग मेँ।
जोड़ जोड़ के रख दिया पागल हुआ धन मेँ।
मोह माया मेँ डूबके ऽऽऽ –2
नाम प्रभु का जपा नहीं ॥१॥
सुमर ले रामको …

जिस दिन काठ की घोड़ी पे चढ़के तू जायेगा।
सब भाई बन्धु तेरे कोई काम न आयेगा।
सोने जैसी काया तेरी ऽऽऽ –2
देँगे पल मेँ खाक बना ॥२॥
सुमर ले राम को …

तिजोरी भर ले राम नाम की काम तेरे जो आये।
प्रभु की कृपा से तो पापी नर भी तर जाये।
गफलत की नीँद मेँ ऽऽऽ –2
‘खेदड़’ तुम सोना नहीँ ॥३॥
सुमर ले रामको …”by pkhedar”

सुमर लेराम को तजके तू मान
सदा ना रहेगा तेरा तन ऽऽऽ ॥
सुमर ले …

 

कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।