श्याम थारी ओल्यू आवे जी भजन लिरिक्स

श्याम थारी ओल्यू आवे जी,

दोहा – सभी को आपने उबारा है,
मुझे भी मेरे श्याम,
तुम्हारा ही सहारा है,
समझकर आपको अपना जग में,
तुम्हारा लख्खा ये पुकारा है।



श्याम थारी ओल्यू आवे जी,

म्हने रात दिना ना चैन पड़े,
थारी याद सतावे जी,
श्याम थारी ओल्यु आवे जी।।



रंग बसंती फीको लागे,

केसर की क्यारी,
श्याम बिन केसर की क्यारी,
मोर पपीहा की बोली भी,
लागे ज्यूँ खारी,
बाबाजी म्हाने कुछ ना भावे जी,
म्हने रात दिना ना चैन पड़े,
थारी याद सतावे जी,
श्याम थारी ओल्यु आवे जी।।



बेगा आजो कृष्ण कन्हाई,

राह तकूं थारी,
श्याम मैं तो राह तकूं थारी,
था बिन धीर धरे ना मनडो,
मोहन गिरधारी,
धीर अब कौन बंधवावे जी,
म्हने रात दिना ना चैन पड़े,
थारी याद सतावे जी,
श्याम थारी ओल्यु आवे जी।।



आओ रंग गुलाल हाथ में,

लेकर पिचकारी,
श्याम जी लेकर पिचकारी,
भक्तों के संग बाबा खेलो,
होली मतवारी,
बीत फागुन ना जावे जी,
म्हने रात दिना ना चैन पड़े,
थारी याद सतावे जी,
श्याम थारी ओल्यु आवे जी।।



श्याम थारी ओल्यु आवे जी,

म्हने रात दिना ना चैन पड़े,
थारी याद सतावे जी,
श्याम थारी ओल्यु आवे जी।।

Singer – Lakhbir Singh Lakhkha Ji


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें