रहता है मेरे साथ में कोई साथ हो ना हो भजन लिरिक्स

रहता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो,
चलता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो।।

तर्ज – मिलती है जिंदगी में।



दुनिया के झूठे साथ से,

सच्चा है तेरा साथ,
दुनिया बदलती रूप है,
जैसे दिन और रात,
अँधियारो में भी संग खड़ा,
कोई संग हो ना हो,
चलता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो।।



एक बार जो आया दर तेरे,

थामा है तूने हाथ,
पल में बदलता सांवरा,
बिगड़े हुए हालात,
परछाई बन के चल रहा,
कोई और हो ना हो,
चलता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो।।



लाखो करोडो भक्तो की,

सुनता है मन की बात,
‘अभिषेक’ के भी सांवरे,
सर पे है तेरा हाथ,
जब तू खड़ा है साथ में,
कोई भी दुःख ना हो,
Bhajan Diary Lyrics,
चलता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो।।



रहता है मेरे साथ में,

कोई साथ हो ना हो,
चलता है मेरे साथ में,
कोई साथ हो ना हो।।

Singer & Lyrics – Abhishek Mishra


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें