राधे इतना रोई विरह में श्याम के लिए लिरिक्स

राधे इतना रोई विरह में श्याम के लिए लिरिक्स

राधे इतना रोई विरह में,
श्याम के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा मेरा मतवाला,
यार मेरा बन्सीवाला।।

तर्ज – जितना राधा रोई।



देखो हालत जो उसकी,

मित्र के हाल पे रोया,
यार के वस्त्र जो देखे,
धन ओ दौलत पे रोया,
रो रो गले लगाया,
रो रो गले लगाया,
यूँ प्यार के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा मेरा मतवाला,
यार मेरा बन्सीवाला।।



पैरो की हालत देखि,

उसे वो देख के रोया,
पैरो के छाले धोए,
उसी की खातिर वो रोया,
आँखों में थे आंसू,
आँखों में थे आंसू,
चरण को धोने के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा मेरा मतवाला,
यार मेरा बन्सीवाला।।



यार आया तो रोया,

यार गया तो रोया,
मुट्ठी भर चावल खा के,
मित्र के प्यार में रोया,
भक्तो वो तो रोया,
भक्तो वो तो रोया,
अपने यार के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा मेरा मतवाला,
यार मेरा बन्सीवाला।।



राधे इतना रोई विरह में,

श्याम के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा उतना रोए देखो,
मित्र सुदामा के लिए,
कान्हा मेरा मतवाला,
यार मेरा बन्सीवाला।।

स्वर – राकेश काला।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें