परदे में रहने दो पर्दा ना उठाओ भजन लिरिक्स

परदे में रहने दो पर्दा ना उठाओ भजन लिरिक्स

परदे में रहने दो पर्दा ना उठाओ,
परदे में रहने दो पर्दा ना उठाओ,
आज ग़ज़ब कर डाला,
कोई नज़र लगाएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।



इसके नाम है एक खराबी,

नज़रें बहुत मिलता है,
धीरे धीरे मुस्काता और,
आँखों को मटकाता है,
ले गया कोई बहलाकर,
फिर हाथ ना आएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।



ऊपर वाले ने बाबा को,

सुन्दर बहुत बनाया है,
ऊपर से इसके भक्तों ने,
वाह वाह खूब सजाया है,
सांवरिया को बनडा बनाना,
महंगा पड़ जाएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।



वृन्दावन में जाकर देखो,

कैसे पर्दा करते हैं,
एक झलक पाने की खातिर,
कैसे भक्त उछलते हैं,
साथ किसी के चला गया तो,
फिर पछताएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।



‘बनवारी’ भक्तों से प्यारी,

प्यारी बातें करता है,
है ये बिलकुल भोला भाला,
चालाकी ना समझता है,
बैठा बैठा भक्तों से ये,
नैन लड़ाएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।



परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ,

परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ,
आज ग़ज़ब कर डाला,
कोई नज़र लगाएगा,
परदें में रहने दो पर्दा ना उठाओ।।

Singer – Mukesh Goel


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें