प्रथम पेज प्रकाश माली भजन पन्ना रा पिता हरचंद हाकला गोत कहाया

पन्ना रा पिता हरचंद हाकला गोत कहाया

पन्ना रा पिता हरचंद,
हाकला गोत कहाया,
फौज मेवाड़ मे झुंजायारण,
खेतर काम मे आया,
पास चितौड़ गढ रे,
गाँव पाडोली आयो,
सांज्या शुरापण मार्ग,
कट कट बिखरा दी काया,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
रंग रंग ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



चावो लालाजी चौहान,

पूत सूरज सिंह पायो,
रया सांगा अंगरक्षक,
पन्ना को पति कहायो,
सेवा सांगा की करता,
बाबर को गर्व गलायो,
मुगला री तोडी ताकत,
दुश्मन रो करत सफायो,
गाँव कमरी रो गुर्जर हाड हो,
कमरी रो गुर्जर हाड हो,
धिन धिन ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



जाप गायत्री जग को,

माता गायत्री गुर्जर,
देव नारायण प्रगट्या,
साडू सतवंती गुर्जर,
गुर्जर पृथ्वीराज बीसलदे,
भोज बगडावत गुर्जर,
त्यागी ओर तपसी गुर्जर,
संत ओर शूरा गुर्जर,
गर्व भारत ने गुर्जर जात रो,
गर्व भारत ने गुर्जर जात रो,
धिन धिन ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



पन्ना रा पिता हरचंद,

हाकला गोत कहाया,
फौज मेवाड़ मे झुंजायारण,
खेतर काम मे आया,
पास चितौड़ गढ रे,
गाँव पाडोली आयो,
सांज्या शुरापण मार्ग,
कट कट बिखरा दी काया,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
रंग रंग ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।