पन्ना रा पिता हरचंद हाकला गोत कहाया

पन्ना रा पिता हरचंद,
हाकला गोत कहाया,
फौज मेवाड़ मे झुंजायारण,
खेतर काम मे आया,
पास चितौड़ गढ रे,
गाँव पाडोली आयो,
सांज्या शुरापण मार्ग,
कट कट बिखरा दी काया,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
रंग रंग ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



चावो लालाजी चौहान,

पूत सूरज सिंह पायो,
रया सांगा अंगरक्षक,
पन्ना को पति कहायो,
सेवा सांगा की करता,
बाबर को गर्व गलायो,
मुगला री तोडी ताकत,
दुश्मन रो करत सफायो,
गाँव कमरी रो गुर्जर हाड हो,
कमरी रो गुर्जर हाड हो,
धिन धिन ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



जाप गायत्री जग को,

माता गायत्री गुर्जर,
देव नारायण प्रगट्या,
साडू सतवंती गुर्जर,
गुर्जर पृथ्वीराज बीसलदे,
भोज बगडावत गुर्जर,
त्यागी ओर तपसी गुर्जर,
संत ओर शूरा गुर्जर,
गर्व भारत ने गुर्जर जात रो,
गर्व भारत ने गुर्जर जात रो,
धिन धिन ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।



पन्ना रा पिता हरचंद,

हाकला गोत कहाया,
फौज मेवाड़ मे झुंजायारण,
खेतर काम मे आया,
पास चितौड़ गढ रे,
गाँव पाडोली आयो,
सांज्या शुरापण मार्ग,
कट कट बिखरा दी काया,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
पूजायो भोमिया बण मेवाड़ रो,
रंग रंग ये पन्ना,
कर्ज चुकायो तू स्वराज रो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

कुण जाने दर्द हमारा मारा बिछड्या राम प्यारा

कुण जाने दर्द हमारा मारा बिछड्या राम प्यारा

कुण जाने दर्द हमारा, मारा बिछड्या राम प्यारा, कुण जाणे दर्द हमारा, मारा बिछड्या प्रेम प्यारा।। मै तो शरन गुरासा री लेता, मने राम भजन री कहता, मै तो शरन…

सैया सतगुरु भल आया जी नवल साहेब जी का बदावा

सैया सतगुरु भल आया जी नवल साहेब जी का बदावा

सैया सतगुरु भल आया जी, कर हर गाज्यो इन शहर में, आनंद बरसाया ऐ।। दर्द मिटायो इन जीव रो, तन री तपत बुझास्या ऐ, युगन युगन रा जीव अलुज्या, सतगुरु…

बेल आईजी री बांधो भाई नेम धर्म सब पालो भाई लिरिक्स

बेल आईजी री बांधो भाई नेम धर्म सब पालो भाई लिरिक्स

बेल आईजी री बांधो भाई, दोहा – कांकण काचो सूत रो, तार ग्यारह ताम, गांठ ग्यारह फाबता, बांधिजे श्री आई नाम। हाथ जीमणे पुरूष रे, औरत गले अनुप, देवी अवतार…

थारो खूब सज्यो दरबार म्हारा बालाजी सरकार लिरिक्स

थारो खूब सज्यो दरबार म्हारा बालाजी सरकार लिरिक्स

थारो खूब सज्यो दरबार, म्हारा बालाजी सरकार, मैं तो आया दर्शन ताइ, बाला झट आवो दरबार, बेगा आओ नि बालासा, थाने अर्ज अपार।। tharo khub sajyo darbar mhara balaji sarkar…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे