ओ श्याम बाबा आई ये कैसी महामारी रे भजन लिरिक्स

बिलख रही है आज धरा पे,
देखो दुनिया सारी रे,
ओ श्याम बाबा आई ये,
कैसी महामारी रे।।

तर्ज – दानी होकर तू चुप।



जब जब मुश्किल आयी हमपे,

तूने साथ निभाया,
बाबा तूने साथ निभाया,
गिरते हुए हर भक्त के सर पे,
तूने हाथ फिराया,
बाबा तूने हाथ फिराया,
आज जगत पे आई बाबा,
देखो विपदा भारी रे,
ओ श्याम बाबा आयी ये,
कैसी महामारी रे।।



बंद पड़े है सब दरवाजे,

मायूसी है छाई,
कैसी मायूसी है छाई,
दूर हो गए हम अपनों से,
दूर हुई परछाई,
देखो दूर हुई परछाई,
करुणा सागर तुम्हे पुकारे,
दया करो गिरधारी रे,
ओ श्याम बाबा आयी ये,
कैसी महामारी रे।।



एक भरोसा तेरा हमको,

तेरा एक सहारा,
हमको तेरा एक सहारा,
कहता है ‘शिव सुबोध’ अब ये,
दूर करो अंधियारा,
अब ये दूर करो अंधियारा,
लौटा दे मुस्कान ‘ईशु’ कि,
विनती कर कर हारी रे,
ओ श्याम बाबा आयी ये,
कैसी महामारी रे।।



बिलख रही है आज धरा पे,

देखो दुनिया सारी रे,
ओ श्याम बाबा आई ये,
कैसी महामारी रे।।

Singer – Raj Guru


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें