मुरली तेरी फिर से बजाना फ़िल्मी तर्ज भजन लिरिक्स

मुरली तेरी फिर से बजाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।

तर्ज – दीदी तेरा देवर दीवाना।



मुरली तेरी फिर से बजाना,

मेरे श्याम भक्तो का है जमाना,
अरे मुरली तेरी फिर से बजाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।



तुमको हमारी जरुरत पड़ेगी,

अगर साथ छोड़ोगे कैसे निभेगी,
तुमको हमारी जरुरत पड़ेगी,
अगर साथ छोड़ोगे कैसे निभेगी,
सेवक को भी देना ठिकाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।



आया हूँ दर पे तेरे कन्हैया,

अपना बना ले हो मेरे खिवैया,
आया हूँ दर पे तेरे कन्हैया,
अपना बना ले हो मेरे खिवैया,
संकट अब तू मेरा मिटाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।



विनती करूँगा मैं तुमसे कन्हैया,

पार लगा दे मेरी बाबा मेरी तू नैया,
विनती करूँगा मैं तुमसे कन्हैया,
अरे पार लगा दे मेरी बाबा मेरी तू नैया,
राधे को भी अपनी बुलाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।



मुरली तेरी फिर से बजाना,

मेरे श्याम भक्तो का है जमाना,
अरे बंसी तेरी फिर से बजाना,
मेरे श्याम भक्तो का है जमाना।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें