सांवरियो बैठ्यो रे जो लेणो है सो मांग ले भजन लिरिक्स

सांवरियो बैठ्यो रे जो लेणो है सो मांग ले भजन लिरिक्स

सांवरियो बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।

श्लोक 
प्यार मिला बाबा का,
कैसे मैं कुछ नही जानू,
जो कुछ भी पाया है मेने,
इसकी कृपा मैं मानु।



सांवरियो बैठ्यो रे,

बनवारी बैठ्यो रे,
ओ बिहारी बैठ्यो रे,
मेरो श्याम बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।



जल्दी आना मेरे बाबा,

मत ना देर लगाना,
चुग जाये खेत अगर चिड़िया जो,
फिर काहे पछताना,
जल्दी आना मेरे बाबा,
मत ना देर लगाना,
चुग जाये खेत अगर चिड़िया जो,
फिर काहे पछताना,
मेरो श्याम बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।



सेवा करसि मेवा पासी,

सगळा ग्रन्थ बतावे,
फिर तू किसकी बाट उड़िके,
क्यों ना श्याम रिझावे,
सेवा करसि मेवा पासी,
सगळा ग्रन्थ बतावे,
फिर तू किसकी बाट उड़िके,
क्यों ना श्याम रिझावे,
गिरधारी बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।



झूठा सेठ जगत का सारा,

साचो सेठ मुरारी,
सच्चे मन से जो कोई ध्याता,
उसकी विपदा टारि,
झूठा सेठ जगत का सारा,
साचो सेठ मुरारी,
सच्चे मन से जो कोई ध्याता,
उसकी विपदा टारि,
गिरधारी बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।



सांवरियो बैठ्यो रे,

बनवारी बैठ्यो रे,
ओ बिहारी बैठ्यो रे,
मेरो श्याम बैठ्यो रे,
जो लेणो है सो मांग ले,
सांवरियो बैठ्यो रे।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें