प्रथम पेज हरियाणवी भजन मेरी मैया दर्श दिखादे री मेरी अखियों की प्यास बुझादे री

मेरी मैया दर्श दिखादे री मेरी अखियों की प्यास बुझादे री

मेरी मैया दर्श दिखादे री,
मेरी अखियों की प्यास बुझादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



मै तो हुई दीवानों की डाला,

दिन रात रटू तेरी माला,
तू आके दिल बहलादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



मेरा आज तो हाल बेहाल होया,

मेरा भाग कड़अ पड़के सोया,
मेरा सोया भाग जगादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



मै तने बता कित टोऊ सू,

तेरी याद में पल पल रोऊ सु,
मने रोती हुई ने हसादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



मेरी बनती बात बिगड़गी से,

के पूछे या दुनिया उझड़गी से,
मेरी दुनिया फेर बसादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



तेरे बिना मेरी कोण खवैया से,

मझदार पड़ी मेरी नैया से,
मेरी नैया पार लगादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



तने सारी दुनिया तार दई,

तेरे भगता ने झोली पसार लई,
भक्तो के काम बनादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।



मेरी मैया दर्श दिखादे री,

मेरी अखियों की प्यास बुझादे री,
मेरी मईया दर्श दिखादे री।।

गायक / प्रेषक – बंटी सैनी सीवन।
8053740265


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।