थारे खातिर जीव होम दु रण भारत माहि लक्ष्मण बैठो होजा भाई

थारे खातिर जीव होम दु,
रण भारत माहि,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।



लक्ष्मण बाण लागो रणभारत रे माही,

राम चंद्र रोबा लागा,
आखया खोले नाही,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।



गड लंका सू वेद बुलाया,

नाडी दिकावा लाई,
या बुटी हीमाले मे मलशी,
लेवा कुण झाई,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।



बलवत जोदो अजनी को लालो,

बुटी लवा जाई,
वन वन मे फिरे ऊदासी,
पर्वत लीदो ऊटा,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।



वणी बुटी री कतुरी बणाई,

लशमण अग चलाई,
आलश मार ऊटा लशमण जी,
रामचन्द्र कत गाई,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।



थारे खातिर जीव होम दु,

रण भारत माहि,
लक्ष्मण बैठो होजा भाई।।

गायक – भगवान रबारी।
बासवाड़ा, गाव सरेडी छोटी।
मोबाइल 7424930404


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

जंभेश्वर को जप ले प्राणी मैं समझाऊं घड़ी घड़ी लिरिक्स

जंभेश्वर को जप ले प्राणी मैं समझाऊं घड़ी घड़ी लिरिक्स

आम की डाली कोयल बोले, बात बताऊं खरी खरी, जंभेश्वर को जप ले प्राणी, मैं समझाऊं घड़ी घड़ी।। गुरुधाम समराथल में, नर नारी रो मेलो है, जंभेश्वर रो ध्यान धरो,…

माखन मिश्री खावा ने थे मारे घर आवो रे कानजी लिरिक्स

माखन मिश्री खावा ने थे मारे घर आवो रे कानजी लिरिक्स

माखन मिश्री खावा ने, थे मारे घर आवो रे कानजी, थे मारे घर आवो रे कानजी, माखन मिश्री खावन ने, थे मारे घर आवो कानजी रे।। अरे ऊंची बैठी अधर…

इणरो वेदो में यश गायो जय हो गौ माता री लिरिक्स

इणरो वेदो में यश गायो जय हो गौ माता री लिरिक्स

इणरो वेदो में यश गायो, शिव ब्रह्मा विष्णु मनायो, पृथ्वी भारी दुःख है पायो, जय हो गौ माता री, जय हो गौ माता री।। गौ माँ मारो फर्ज निभायो, जीते…

लाल पीली चुनरिया म्हारा माताजी ने सोवे सा

लाल पीली चुनरिया म्हारा माताजी ने सोवे सा

लाल पीली चुनरिया, म्हारा माताजी ने सोवे सा, पवन हिलोरा खाय, पवन हिलोरा खाय म्हारा माताजी, पवन हिलोरा खाय।। माथा माई रखडी, माताजी ने सोवे सा, पवन हिलोरा खाय, पवन…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे