खाटू वाला श्याम धणी कलयुग का भगवान है भजन लिरिक्स

खाटू वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है,
हारे का जो बने सहारा,
वो तो बाबा श्याम है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।

तर्ज – सांवली सूरत पे मोहन।



त्रिलोकी ने ली परीक्षा,

माँगा शीश का दान था,
शीश का दानी का कहलाया,
खाटू वाला श्याम है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।



धन्य हुए है भगत प्रेमी,

कर दर्शन श्री श्याम का,
बिगड़ी सबकी ये बनाता,
ये मेरा सरकार है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।



महाभारत के महायुद्ध में,

ऐसा ये वरदान मिला,
कलयुग में तेरी होगी पूजा,
श्याम धणी तेरा नाम है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।



परख लिया संसार में सबको,

कोई काम ना आया था,
‘चहल’ दीवाने श्याम धणी को,
तुझसे इतना प्यार है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।



खाटू वाला श्याम धणी,

कलयुग का भगवान है,
हारे का जो बने सहारा,
वो तो बाबा श्याम है,
खाटु वाला श्याम धणी,
कलयुग का भगवान है।।

Singer – Raj Kumar


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें