प्रथम पेज कृष्ण भजन वो परदे के पीछे पर्दानशी है कृष्ण भजन लिरिक्स

वो परदे के पीछे पर्दानशी है कृष्ण भजन लिरिक्स

वो परदे के पीछे पर्दानशी है,
मेरा सांवरा है, मेरा सांवरा है,
ये मुझको यकीं है,
वो पर्दे के पीछे पर्दानशी है।।

तर्ज – बहुत नाज करते है।



तलबगार उसका है,

ये सारा जमाना,
कोई है पगला,
तो कोई दीवाना,
दिल लूट लेने का,
दिल लूट लेने का,
बड़ा ही शौकीन है,
वो पर्दे के पीछे पर्दानशी है।।



उठते है जब ये,

दिले बेकरारी,
तो आता है बाहर,
वो बांके बिहारी,
रसीला रंगीला है,
रसीला रंगीला है,
बड़ा ही हंसी है,
वो पर्दे के पीछे पर्दानशी है।।



ये पर्दा हटा दो,

तड़प दूर कर दो,
मेरी भावनाओं में,
श्याम रस भर दो,
मोरी चुनरिया,
मोरी चुनरिया,
तोरे रंग में रंगी है,
वो पर्दे के पीछे पर्दानशी है।।



वो परदे के पीछे पर्दानशी है,

मेरा सांवरा है, मेरा सांवरा है,
ये मुझको यकीं है,
वो पर्दे के पीछे पर्दानशी है।।

Singer – Dr. Lata Pardesi


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।